होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /5 बोरों में सिक्के भरकर शोरूम पहुंचा पति, पत्नी को दिलाया स्कूटर, गिनने में लगे इतने घंटे

5 बोरों में सिक्के भरकर शोरूम पहुंचा पति, पत्नी को दिलाया स्कूटर, गिनने में लगे इतने घंटे

MP Wow News: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में पति का अंदाज देख पत्नी हैरान रह गई. पति ने 50 हजार के सिक्के जमाकर पत्नी को स्कूटर गिफ्ट किया.

MP Wow News: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में पति का अंदाज देख पत्नी हैरान रह गई. पति ने 50 हजार के सिक्के जमाकर पत्नी को स्कूटर गिफ्ट किया.

Man Saves 5 Sacks Full of Coins To Buy Scooter for his Wife: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में पति ने अनोखे अंदाज में ...अधिक पढ़ें

बुरहानपुर. मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में एक पति ने जिस अंदाज में पत्नी को बर्थ-डे गिफ्ट दिया, उसे वह जिंदगी भर नहीं भूल पाएगी. पति ने 5 साल तक 50 हजार रुपये की चिल्लर जमा की और उसी चिल्लर से पत्नी को स्कूटर गिफ्ट किया. पत्नी भी पति के इस अंदाज से हैरान रह गई. उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

गिफ्ट देने वाले पति का नाम दीपक घोड़से और उनकी पत्नी का नाम भारती है. शुक्रवार को भारती का बर्थ-डे था. दूध डेयरी पर काम करने वाले दीपक ने इस दिन के लिए 5 साल तक सिक्के जमा किए थे. वे इन सिक्कों को लेकर स्कूटर के शो-रूम पहुंच गए. उन्हें इतने सिक्कों के साथ देख शोरूम संचालक और उनका स्टाफ हैरान हो गया. शो-रूम संचालक ने दीपक से कहा कि वे इन सिक्कों के बदले स्कूटर नहीं बेच सकेंगे. उसके बाद दीपक ने उन्हें अपने मन की बात बताई और उन्हें मना लिया. शो-रूम संचालक ने सिक्के लेकर स्कूटर की चाबी सौंप दी.

शख्स पांच साल से कर रहा था इंतजार

दीपक ने शो-रूम संचालक को बताया कि वह इस दिन के लिए 5 साल तक इंतजार कर रहे थे. वे पिछले इतने सालों से पत्नी को स्कूटर गिफ्ट करने के लिए चिल्लर जमा कर रहे थे. दीपक ने बताया 50 हजार के सिक्के पांच बोरियों में लाए हैं. इसके बारे में पत्नी को कुछ नहीं पता. इसके बाद वे पत्नी और सिक्कों के साथ शो-रूम पहुंचे और स्कूटर खरीद दिया.

गिनने में लगा इतना समय

गौरतलब है कि दूध डेयरी पर काम करते हुए और डोर-टू-डोर दूध बांटते हुए जो सिक्के दीपक को मिलते उन्हें वह जमा करता जाता था. शो-रूम लाने से पहले इन सिक्कों को पॉलिथिन में पैक किया गया और फिर बोरियों में रखा गया. इन सिक्कों को शो-रूम के कर्मचारियों में करीब ढाई घंटे में गिना. इन सिक्कों में दस, पांच और दो रुपये के सिक्के थे.

पत्नी को बाद में समझ आई ये बात

इधर, जैसे ही पत्नी ने पति का ये अंदाज देखा तो हैरान रह गइ. स्कूटर की चाबी मिलने के बाद उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इस मौके पर भारती ने कहा कि उन्होंने अक्सर पति को चिल्लर जमा करते देखा, लेकिन अंदाजा नहीं लगा पाई कि इनका क्या उपयोग होगा. कई बार पूछा भी, लेकिन पति ने कुछ नहीं बताया. महिला ने बताया कि शुक्रवार को अचानक वे उन्हें और सिक्कों को ले जाने लगे. जब हम शो-रूम पहुंचे तब पता चला कि सिक्के क्यों जमा किए जा रहे थे. भारती ने कहा ये मेरे जीवन का सबसे यादगार दिन है. ये गिफ्ट हमेशा याद रहेगा.

Tags: Khandwa news, Mp news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें