लाइव टीवी

MP: 150 साल पुरानी इस जेल में गहराया जल संकट, कैदी से लेकर प्रहरी तक हैं परेशान

Harendra Nath Thakur | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 8, 2019, 7:31 AM IST

खंडवा की 150 साल पुरानी इस जेल में इस बार गर्मी ने ऐसा रौद्र रूप दिखाया है की यहां बूंद-बूंद के लिए कैदी से लेकर प्रहरी तक सभी तरस रहे हैं.

  • Share this:
गर्मी के तल्ख और तीखे तेवर में शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक जलसंकट को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. प्रदेश का खंडवा जिला जेल भी इससे अछूता नही रहा. करीब डेढ़ सौ साल पुरानी इस जेल में जल संकट गहराने के बाद जेल में तैनात प्रहरियों से लेकर कैदी तक सभी हलकान हैं. जेल में मौजूद तीन-तीन ट्यूबवेल पूरी तरह से सूख चुके हैं. खंडवा की 150 साल पुरानी इस जेल में इस बार गर्मी ने ऐसा रौद्र रूप दिखाया है की यहां बूंद-बूंद के लिए कैदी से लेकर प्रहरी तक सभी तरस रहे हैं.

झमता से ज्यादा कैदी-

200 कैदियों की क्षमता वाले इस जेल में व्यवस्था के अभाव में शुरू से ही दुगुने से भी ज्यादा कैदी रह रहे हैं. लिहाजा बैरक में व्यवस्था संभालने में प्रहरियों को काफी कठिनाई होती है. इधर जल संकट के कारण जेल के अंदर एक-एक बाल्टी पानी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. फिलहाल, नगर निगम के टेंकर के माध्यम से 581 कैदियों की प्यास बुझाई जा रही है.

पानी बर्बाद नहीं करने की दी हिदायत-

इधर, जेल अधीक्षक ने जल संकट से निपटने के लिए जेल के अंदर कैदियों को पानी की बर्बादी को रोकने के लिए सख्त हिदायत दी है. जिसमे सजा तक का प्रवधान किया गया है. हालांकि जल संकट देखते हुए कैदियों ने खुद पानी की बर्बादी को कम कर दिया है.

ये भी पढ़ें- News Wrap Up : पानी की भीषण किल्लत के बीच गृह विभाग ने किया पुलिस को सतर्क

ये भी पढ़ें-रफ्तार का कहर : 1 साल में 10,177 लोगों ने गंवाई जान, आधे से ज्यादा की उम्र 18-35 के बीच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खंडवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 7, 2019, 12:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...