प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या, आजीवन कारावास की सजा
Khandwa News in Hindi

प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या, आजीवन कारावास की सजा
आरोपी महिला व उसका प्रेमी

खंडवा जिले के बलखडसुरा गांव में 13 जून 2016 को एक किसान लखन ने छैगांवमाखन पुलिस को सूचना दी की उसके खेत में किसी जानवर की जली हुई लाश पड़ी है. जिसकी हड्डी और दांत खेत में हैं. किसान की सूचना पर छैगांवमाखन पुलिस ने मौके पर पहुंच कर वहां जांच की. जांच में यह अस्थियां मनुष्य की पाई गई

  • Share this:
खंडवा में करीब दो साल पुराने हत्याकांड मामले में खंडवा न्यायालय ने आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. खंडवा के छैगांवमाखन थाना क्षेत्र के बलखडसुरा गांव में दुर्गाबाई नामक महिला ने अपने प्रेमी सुनील के साथ मिलकर अपने पति नाहर सिंह को मौत के घाट उतार दिया था और उसकी लाश को घर के पीछे करीब तेईस दिनों तक जमीन में दफना कर रखा था.

खंडवा जिले के बलखडसुरा गांव में 13 जून 2016 को एक किसान लखन ने छैगांवमाखन पुलिस को सूचना दी की उसके खेत में किसी जानवर की जली हुई लाश पड़ी है. जिसकी हड्डी और दांत खेत में हैं. किसान की सूचना पर छैगांवमाखन पुलिस ने मौके पर पहुंच कर वहां जांच की. जांच में यह अस्थियां मनुष्य की पाई गई.

गांव की ही महिला दुर्गाबाई अपने पति की तलाश के लिए छैगांवमाखन पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट करवाई थी. महिला द्वारा अपने पति की तलाश के लिए बार-बार पुलिस से जानकारी लेना और अपने बयान बदलने के कारण पुलिस के शक के दायरे में आ गई. पुलिस ने महिला से सख्ती से पूछताछ की जिसमें महिला ने अपने प्रेमी सुनिल के साथ मिलकर पति नाहर सिंह की हत्या करने का खुलासा हुआ.



पुलिसिया जांच में महिला द्वारा अपराध स्वीकार किये जाने के बाद महिला और उसके प्रेमी सुनील के खिलाफ छैगांवमाखन थाना क्षेत्र में अपराध पंजीबद्ध कर मामले की बारीकी से जांच की गई. दो साल बाद आरोपी महिला और उसके प्रेमी को मंगलवार को खंडवा न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज