नई सरकार से उम्मीद, खरगोन शहर में होगा जिला न्यायालय

बार एसोसिएशन की मांग पर हाइकोर्ट ने पिछले दिनों जिला न्यायालय, जिला मुख्यालय खरगोन में बनाने की स्वीकृति दे दी है. लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने इस ओर कोई पहल नहीं की.

Ashutosh Purohit | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 15, 2018, 10:27 AM IST
नई सरकार से उम्मीद, खरगोन शहर में होगा जिला न्यायालय
खरगोन का जिला न्यायालय अंग्रेजों के जमाने से एक छोटे से कस्बे मंडलेश्वर में चल रहा है.
Ashutosh Purohit | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 15, 2018, 10:27 AM IST
खरगोन जिला मुख्यालय देश का एक मात्र ऐसा मुख्यालय है जहां जिला न्यायालय नहीं है. यहां आजादी के पहले से मंडलेश्वर में ही जिला न्यायालय चल रहा है. लोगों को न्याय के लिए परेशान होना पड़ता है. किसी भी जिले में जिला मुख्यालय पर ही कलेक्टर कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय सहित सभी विभागों के जिला कार्यालय और जिला न्यायालय हुआ करता है. लेकिन खरगोन जिले का जिला कोर्ट और उपभोक्ता फोरम न्यायालय मंडलेश्वर और श्रम न्यायालय खंडवा में है. इस कारण लोग सस्ते और सुलभ न्याय के दावों पर सवाल खड़ने लगे हैं.

वैसे बता दें कि बार एसोसिएशन की मांग पर हाइकोर्ट ने पिछले दिनों जिला न्यायालय, जिला मुख्यालय खरगोन में बनाने की स्वीकृति दे दी है. लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने इस ओर कोई पहल नहीं की. बता दें कि इसके लिए बार एसोसिएशन ने दो बार मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी.



अब बार एसोसिएशन को उम्मीद है कि नई सरकार दशकों से चली आ रही उनकी मांग को पूरी करेगी. इसे लेकर बार एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेनेवाले कमलनाथ से जनवरी के प्रथम सप्ताह में मिलेगा. इस प्रतिनिधिमंडल के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि भी होंगे. बार एसोसिएशन मान कर चल रही है कि नई सरकार से उन्हें वर्षों से लंबित जिला कोर्ट की सौगात मिलेगी.

ये भी देखें - VIDEO: दो साल से अलग रह रहे दंपति को लोक अदालत ने फिर से मिलाया, बच्चों के चेहरे खिले

ये भी पढ़ें - खरगोन में फर्जी तरीके से नियुक्त 18 आशा सहयोगियों को हटाया गया
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...