अपना शहर चुनें

States

खरगोन में चाइल्ड लाइन ने पुलिस की मदद से 125 बाल श्रमिकों को कराया मुक्त

खरगोन में चाइल्ड लाइन ने पुलिस की मदद से 125 बाल श्रमिकों को कराया मुक्त
खरगोन में चाइल्ड लाइन ने पुलिस की मदद से 125 बाल श्रमिकों को कराया मुक्त

खरगोन जिले में सोमवार को चाइल्ड लाइन ने पुलिस के सहयोग से करीब 125 बाल श्रमिकों को रेस्क्यू कर मुक्त कराया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में सोमवार को चाइल्ड लाइन ने पुलिस के सहयोग से करीब 125 बाल श्रमिकों को रेस्क्यू कर मुक्त कराया है. चाइल्ड लाइन सब सेंटर भगवानपुरा ने रैकी करने के बाद मासूम बच्चों को ठेकेदार से मुक्त कराया है. इन बच्चो में ज्यादातर बच्चे स्कूल में पढ़ने वाले हैं. मिली जानकारी के मुताबिक आर्थिक तंगी के चलते लालच देकर जिले के बिस्टान थाने के बच्चों को गढी मोगरगांव से ठेकेदार 4 पिकअप वाहनों में भरकर खेतों में मजदूरी कराने अपने साथ ले जा रहा था.

अब तक की बड़ी कार्रवाई

बहरहाल, पुलिस के सहयोग से इन बाल श्रमिकों के रेस्क्यू को अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है. बच्चों और आदिवासी परिजनों को स्कूल की सामग्री और जरूरत के कपड़ों का लालच देकर
मजदूरी के लिए ले जाया जाता है. पुलिस अधीक्षक सुनील पांडेय द्वारा जिले के पुलिस अधिकारियों को बाल श्रमिकों के खिलाफ कार्रवाई करने के दिए निर्देश के बाद जिले में लगातार इतनी बड़ी संख्या में बच्चों को रेस्क्यू की कार्रवाई की जा रही है.
काउंसलिंग कर परिजनों को सौंपा गया



फिलहाल, पुलिस की इस कार्रवाई से हड़कंप मच गया है. बच्चों को बाल कल्याण समिति को सौंपा गया है. इसके बाद काउंसलिंग कर परिजनों को सक्त हिदायत देकर सौंपा गया. बाल श्रम पर प्रतिबंध के बाद एक साथ 125 बाल श्रमिकों को मुक्त कराने की कार्रवाई से शासन प्रशासन विशेषकर श्रम विभाग के दावों की पोल खुल गई है.

ये भी पढ़ें:- महापंचायत का फरमान- जाति देख कर प्रेम करें युवतियां

ये भी पढ़ें:- नाबालिग लड़कियों और महिलाओं के गायब होने के 148 मामले...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज