लोकसभा चुनाव 2019: खरगोन से बाला बच्चन की पत्नी लड़ सकती हैं चुनाव

बीजेपी का उम्मीदवार घोषित होने के बाद अब कांग्रेस के उम्मीदवार को लेकर चर्चा तेज होने लगी है. कांग्रेस गृहमंत्री बाला बच्चन की पत्नी प्रवीणा बच्चन को उम्मीदवार बना सकती हैं.

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 3, 2019, 2:02 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: खरगोन से बाला बच्चन की पत्नी लड़ सकती हैं चुनाव
बाला बच्चन ( फाइल फोटो )
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 3, 2019, 2:02 PM IST
मध्य प्रदेश के खरगोन लोकसभा सीट से बीजेपी का उम्मीदवार घोषित होने के बाद अब कांग्रेस के उम्मीदवार को लेकर चर्चा तेज होने लगी है. कांग्रेस गृहमंत्री बाला बच्चन की पत्नी प्रवीणा बच्चन को उम्मीदवार बना सकती हैं. प्रवीणा बच्चन सबसे मजबूत दावेदार हैं. स्थानीय स्तर पर उनका विरोध भी नहीं है और दूसरी तरफ संसदीय क्षेत्र के सभी कांग्रेस विधायकों ने उनका समर्थन भी किया है.

मोदी लहर के कारण 2014 में बीजेपी के सुभाष पटेल खरगौन सीट 2 लाख 57 हजार 879 रिकार्ड मतों से चुनाव जीते थे. लेकिन इस बार स्थानीय स्तर पर नाराजगी की वजह से पार्टी ने उनका टिकट काट दिया और गजेंद्र पटेल को चुनावी मैदान में उतारा है. अभी तक कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किया है. लेकिन कांग्रेस की तरफ से गृहमंत्री बाला बच्चन की पत्नी प्रवीणा बच्चन का नाम तेजी से सामने आ रहा है. यहां पर पिछले 2 चुनावों से बीजेपी जीत रही हैं. बीजेपी को यहां पर 7 चुनावों और कांग्रेस को 5 चुनाव में जीत मिली है.



क्यों मिल सकता है प्रवीणा बच्चन को टिकट ?

-संसदीय क्षेत्र में कोई दमदार प्रत्याशी नहीं है.

-स्थानीय स्तर पर नेताओं का समर्थन मिल रहा है.

-पहली महिला प्रत्याशी बनाकर जनता के बीच संदेश देने की कोशिश की जायेगी.

-गृहमंत्री बाला बच्चन की पत्नी होने का फायदा मिल सकता है.
Loading...

-बाला बच्चन की खरगोन, बड़वानी जिले में अच्छी पकड़ है.

-कई कांग्रेसी विधायकों ने प्रवीणा बच्चन को टिकट देने के लिए पार्टी नेतृत्व को लेटर भी लिखा है.

ये भी पढ़ें- सासंद-विधायकों के अच्छे दिन : 5 साल में 400 गुना तक बढ़ी संपत्ति

प्रवीणा बच्चन के अलावा खरगोन जिला पंचायत अध्यक्ष कमला केदार डावर (निर्दलीय चुनाव लड़कर जीते) और भीकनगांव विधानसभा से दो बार की विधायक रह चुकी झूमा सोलंकी (खंडवा लोकसभा में आती) भी दावेदार हैं.

हालांकि, बताया जा रहा है कि इन दोनों ही दावेदारों ने पार्टी नेतृत्व के सामने प्रवीणा बच्चन का समर्थन किया है. इस संसदीय सीट में आने वाली आठ विधानसभा में छह कांग्रेस, एक बीजेपी और एक बसपा के पास है. इस लोकसभा क्षेत्र में गृहमंत्री सहित तीन मंत्री हैं. यहां पर कांग्रेस मजबूत स्थिति में बताई जा रही है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस ने जारी किया चुनाव घोषणा पत्र, मंत्रियों ने बताया-'जनता का मास्टर स्ट्रोक'

बता दें कि साल 2009 में पहली बार खरगोन सीट आरक्षित हुई और बाला बच्चन बीजेपी बीजेपी के मकनसिंह सोलंकी से हार गए थे. इसके बाद 2014 में सुभाष पटेल ने मोदी लहर में कांग्रेस के रमेश पटेल को हराया. प्रवीणा बच्चन की दावेदारी पेश होने के बाद उन्होंने बाला बच्चन के साथ सार्वजनिक आयोजनों में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है.

खरगोन सीट पर इस बार मुकाबला बढ़ा रोचक होने वाला है. बीजेपी की तरफ से गजेंद्र पटेल नया चेहरा जरूर है, लेकिन उनकी पकड़ आदिवासी वोट बैंक के बीच मजबूत है. कांग्रेस प्रवीणा बच्चन को अपना उम्मीदवार बनाती है, तो कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी.

ये भी पढें- लोकसभा चुनाव 2019: बसपा ने MP की 9 सीटों पर घोषित किए प्रत्याशी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...