खरगोन में वनस्पति से बनाया जा रहा था शुद्ध घी, 675 किलो नकली घी जब्त

खरगोन में शनिवार को एसडीएम अभिषेक गेहगोत की अगुवाई में प्रशासन के संयुक्त दल ने डालडा से नकली घी बनाने के गोरख धंधे का पर्दाफाश किया.

Ashutosh Purohit | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 28, 2019, 7:09 AM IST
Ashutosh Purohit | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 28, 2019, 7:09 AM IST
खरगोन में शनिवार को एसडीएम अभिषेक गेहगोत की अगुवाई में प्रशासन के संयुक्त दल ने डालडा से नकली घी बनाने के गोरख धंधे का पर्दाफाश किया. छापामार कार्रवाई करते हुए घाटी जीन स्थित फर्म हार्दिक ट्रेडर्स से 45 डिब्बों में 675 लीटर नकली घी बरामद किया गया. जब्त की गई नकली घी की कीमत करीब 2 लाख रुपये बताई जा रही है. वहीं पड़ोस की एक अन्य फर्म राज ट्रेडर्स से 25 लीटर एक्सपायरी डेट का नकली घी और 115 लीटर तेल बरामद किया गया है. दो फर्मों पर एसडीएम की मौजूदगी में खाद्य औषधि, पुलिस और नगरपालिका के संयुक्त दल ने कार्रवाई को अंजाम दिया.

डालडा से देशी घी बनाने का कारोबार

एसडीएम ने कहा कि नकली घी की कीमत करीब दो लाख के आसपास आंकी गई है.


एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने बताया कि हार्दिक महाजन का फर्म है हार्दिक ट्रेडर्स. यहां की गई कार्रवाई में पता चला कि डालडा से देशी घी बनाने का कारोबार किया जा रहा है. यहां नकली घी के 45 डिब्बे बरामद किए गए. प्रत्येक डिब्बे में 15 किलो नकली घी थे. उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर 375 किलो नकली घी जब्त किया गया. उन्होंने कहा कि इस नकली घी की कीमत करीब दो लाख के आसपास आंकी गई है. उन्होंने कहा कि साथ ही एक अन्य फर्म के ऊपर भी कार्रवाई की गई है. उस फर्म से भी 115 लीटर तेल और 25 लीटर घी एक्सपायरी डेट का मिला है.

एसडीएम ने कहा कि ऐसी कार्रवाई लगातार जारी रहेगी. फिलहाल फूड एंड एडल्ट्रेशन विभाग द्वारा पंचनामा बनाकर उसकी सैंपलिंग की जा रही है. फिर फर्म के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि रासुका तक की भी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें - जेल तोड़कर भागे 2 कैदियों का राजस्थान में एक्सीडेंट, हुई मौत

ये भी पढ़ें - डॉक्टर को इस लापरवाही के लिए भरना पड़ेगा 15 लाख का हर्जाना
First published: July 27, 2019, 6:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...