खरगोन में संझा माता का विसर्जन करने गईं दो बालिकाओं की नदी में डूबने से मौत

बच्चियों के शव ले जाते ग्रामीण.

बच्चियों के शव ले जाते ग्रामीण.

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के बडवाह थाने के माचलपुर गांव मे संझा माता का विसर्जन करने गई दो बालिकाओं की नदी में डूबने से मौत हो गई. इस हादसे के बाद से गांव मे शौक का माहौल छा गया.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के बडवाह थाने के माचलपुर गांव मे संझा माता का विसर्जन करने गई दो बालिकाओं की नदी में डूबने से मौत हो गई. इस हादसे के बाद से गांव मे शौक का माहौल छा गया.



बताया जा रहा है कि 12 वर्षीया अर्चना और 10 वर्षीया रूपाली संझा माता का विसर्जन करने 10-12 बच्चीयों के साथ गांव के समीप ही रूपारेल नदी पर गई थी. विसर्जन के बाद नहाने के दौरान अचानक  रुपाली को डूबते देख अर्चना बचाने के लिये गई, लेकिन दोनों गहरे पानी मे डूब गई.



बाकी बच्चियों ने गांव में आकर घटना की जानकारी दी. लेकिन तब तक दोनों ही बच्चियों की डूबने से मौत हो गई. ग्रामीण शेरू खेडकर ने बताया की बच्चियां नदी पर विसर्जन करने गई थी. तभी नहाने के दौरान हादसा हो गया. मौके पर पुलिस पहुंच गई और पंचनामा करवाकर शव अपने कब्जे में ले लिया.





बडवाह थाने के एएसआई नितिन अहिरवार ने बताया दोनों बच्चियों के शव को नदी से निकालकर बड़वाह के शासकीय अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौप दिया गया है.
दोनों बच्चियों की आकस्मात हुई मौत से ग्राम में मातम छाया गया. गौरतलब है की श्राद्ध पक्ष मे संजा माता का पर्व निमाड अंचल में आस्था के साथ 16 दिनों तक मनाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज