फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रही महिला गिरफ्तार

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 20, 2018, 3:13 PM IST
फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रही महिला गिरफ्तार
फर्जी डॉक्यूमेंट बना कर पति ने पत्नी को दिलाई सरकारी नौकरी.

मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के बडवाह में फर्जी मार्कशीट और फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी कर रही एक शिक्षिका और उसके पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. सीएम हेल्प लाईन में शिकायत की जांच के बाद बड़ा खुलासा पुलिस ने किया है. दरअसल असली महिला कर्मचारी महिला एवं बाल विकास विभाग में सहायक पर्यवेक्षक के पद पर पदस्थ हैं.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के बडवाह में फर्जी मार्कशीट और  फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी कर रही एक शिक्षिका और उसके पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. सीएम हेल्प लाईन में शिकायत की जांच के बाद बड़ा खुलासा पुलिस ने किया है. दरअसल असली महिला कर्मचारी महिला एवं बाल विकास विभाग में सहायक पर्यवेक्षक के पद पर पदस्थ हैं.

शिकायत की जांच के बाद बड़वाह एसडीओपी मानसिंह ठाकुर ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि शासकीय प्राथमिक विद्यालय क्रमांक 6 में पदस्थ आरोपी शिक्षक विक्रम सिंह चौहान ने अपनी पत्नी रुकमणी चौहान उर्फ बेबीबाई के नाम से फर्जी अंक सूची और जाति प्रमाण पत्र तैयार कर, झाबुआ जिले के पेटलावद में महिला एवं बाल विकास विभाग में सहायक पर्यवेक्षक के पद पर पदस्थ अंजुबाला राठौर की मार्कशीट पर अपनी पत्नी का नाम चढ़ाया और फर्जी जाति प्रमाण पत्र तैयार कर शिक्षिका के पद पर नौकरी लगवा दी.

इस मामले को लेकर असली महिला अंजुबाला राठौर सहित आरटीआई कार्यकर्ता प्रेमलाल गुर्जर ने सीएम
हेल्पलाईन सहित पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. जांच के बाद पुलिस ने फर्जी अंक सूची के आधार पर सरकारी नौकरी हथियाने वाली आरोपी शिक्षिका रुकमणी चौहान सहित उसके पति विक्रमसिंह चौहान को गिरफ्तार कर लिया.

इस मामले को लेकर बडवाह के आरटीआई कार्यकर्ता प्रेमलाल गुर्जर का कहना है कि आरोपी महिला और उसके पति ने फर्जी मार्कशीट और प्रमाण पत्र बनवाकर नौकरी हासिल कर ली थी. जिसकी शिकायत शिक्षा विभाग सहित सीएम हेल्पलाईन में की गई थी, लेकिन शिक्षा विभाग द्वारा आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई.

जांच के बाद शुक्रवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. बड़वाह के एसडीओपी मानसिंह ठाकुर ने बताया कि आरोपी विक्रमसिंह चौहान ने षड़यंत्र पूर्वक दस्तावेज तैयार कर अपनी पत्नी को अंजुबाला के नाम से सरकारी नौकरी दिलवाई थी. शिकायत के बाद हुई जांच के आधार पर आरोपी
विक्रमसिंह चौहान और उसकी पत्नी रुकमणी बाई को गिरप्तार किया गया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खरगोन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2018, 2:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...