लाइव टीवी

CRIME CAPITAL बन रहा भोपाल, रोज हो रहा एक महिला का अपहरण, ये रहे आंकड़े

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 19, 2020, 4:56 PM IST
CRIME CAPITAL बन रहा भोपाल, रोज हो रहा एक महिला का अपहरण, ये रहे आंकड़े
राजधानी को शर्मसार कर रहे अपराध के ये आंकड़े

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल महिला अपराधों (Crime against women) को लेकर अव्वल है. प्रदेश में महिला अपराध कम हुए हैं, तो राजधानी में ऐसे गंभीर अपराध बढ़े हैं. हर रोज राजधानी में एक महिला का अपहरण हो रहा है.

  • Share this:
भोपाल. अपहरण के मामलों में 2018 की तुलना में 2019 में 27 फीसदी बढ़ोत्तरी हुई है. ये स्थिति तब है जब सरकार महिला अपराध को रोकने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है. 2018 की तुलना में भोपाल में महिलाओं से जुड़े अपराध किडनैप, रेप, छेड़छाड़, दहेज हत्या, प्रताड़ना के मामलों में 8.17 प्रतिशत बढ़ोत्तरी हुई है. जनवरी से नवंबर 2018 के बीच इन अपराधों में 2706 पर था और 2019 में इन अपराधों का ग्राफ 3009 पहुंच गया. महिलाओं के साथ किडनैपिंग के मामलों में 27 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है. ये आंकड़े प्रदेश पुलिस से ही प्राप्त हुए हैं.

प्रदेश में घटे, राजधानी में बढ़े अपराध
मध्य प्रदेश में 2018 के तुलना में 2019 में रेप के मामलों में कमी आई है, लेकिन प्रदेश की राजधानी भोपाल में ही महिला अपराधों की स्थिति ठीक नहीं है. 2018 में मध्यप्रदेश में रेप के 5353 मामले दर्ज हुए, जबकि 2019 में 20 नवंबर तक रेप के 4926 मामले दर्ज हुए. 2019 में 427 रेप की घटनाएं कम हुईं. प्रदेश में महिला अपराध कम हुए, लेकिन ये शर्मनाक है कि राजधानी भोपाल में इस तरह की स्थिति है. यहां अपहरण, छेड़छाड़, रेप, दहेज हत्या, धमकी और प्रताड़ना जैसे अपराधों का ग्राफ बढ़ा है. यहां महिलाओं से जुड़े गंभीर अपराधों में तेजी से इजाफा हुआ है. पुलिस अधिकारी जरूर दावे कर रहे हैं, लेकिन आंकड़े हर बार इन दावों की पोल खोलकर रख देते हैं.

आंकड़ों की गवाही 

अपराध         2017   2018   2019
किडनैपिंग      276    343    434
रेप            261    282    396छेड़छाड़        449    544    552
प्रताड़ना        410     295   373
दहेज हत्या      27      12    14
धमकी         945    1190   1240

पुलिस की सफाई
भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने माना कि शहर में अपहरण के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि नाबालिग बच्चों के मामलों को पुलिस विभाग गंभीरता से लेता है. हम कार्रवाई करके बच्चों को छुड़ाते भी है. उन्होंने कहा कि पुलिस की कोशिश रहती है कि लोगों को जागरूक किया जाए. उन्होंने कहा कि पुलिस हर मामले की बारीकी से जांच करती है.

ये भी पढ़ें -
क्या इस 'जंग' में शिवराज सिंह चौहान को पछाड़ पाएंगे CM कमलनाथ?
BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर को भेजे धमकी भरे पत्र में क्या जानलेवा एंथ्रेक्स पाउडर लगा था?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 4:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर