• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • जानिए, प्रज्ञा ठाकुर को विमान में क्‍यों नहीं मिली उनकी मनचाही सीट

जानिए, प्रज्ञा ठाकुर को विमान में क्‍यों नहीं मिली उनकी मनचाही सीट

साध्वी प्रज्ञा ने  कहा था कि भोपाल के विकास के एजेंडे पर काम हो रहा है, लेकिन उन्होंने उसका खुलासा नहीं किया था

साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि भोपाल के विकास के एजेंडे पर काम हो रहा है, लेकिन उन्होंने उसका खुलासा नहीं किया था

स्‍पाइस जेट (Spice jet) के प्रवक्‍ता ने यात्रियों की सुरक्षा (Safety and Security of Passenger ) को प्राथमिकता बताते हुए सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) को हुई असुविधा के लिए खेद व्‍यक्‍त किया है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली/भोपाल. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur) को विमान (Aircraft) में उनकी मनचाही सीट नहीं मिल सकी. विमान के क्रू ने दिल्‍ली (Delhi) से भोपाल (Bhopal) की यात्रा के लिए प्रज्ञा ठाकुर को वह सीट देने से इंकार कर दिया, जिस पर बैठ कर वह अपना सफर पूरा करना चाहतीं थीं. आखिर में विमान के केबिन क्रू (Cabin Crew) द्वारा उपलब्‍ध कराई गई वैकल्पिक सीट पर बैठ कर प्रज्ञा ठाकुर ने अपना सफर पूरा किया. भोपाल पहुंचने के बाद प्रज्ञा ठाकुर ने इस घटना को लेकर न केवल नाराजगी जाहिर की, बल्कि एयरपोर्ट प्रशासन (Airport Administration) से इसकी शिकायत भी की.

व्हील चेयर पर पहुंची थीं प्रज्ञा ठाकुर
विमानन कंपनी स्‍पाइस जेट ने पूरे घटनाक्रम को बताते हुए उन कारणों का उल्‍लेख किया है, जिनके चलते भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को उनकी मनचाही सीट नहीं मिल सकी. एयरलाइन के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने दिल्‍ली से भोपाल की यात्रा के लिए स्‍पाइस जेट की फ्लाइट संख्‍या एसजी-2498 में अपनी टिकट बुक कराई थी. यात्रा से पहले उन्‍होंने विमान की सीट संख्‍या 1ए को अपने लिए आरक्षित कराया था. 21 दिसंबर को प्रज्ञा ठाकुर अपनी निजी ह्वील चेयर पर एयरपोर्ट पहुंची.

व्हील चेयर की नहीं दी थी जानकारी
एयरलाइन के वरिष्‍ठ अधिकारी की मानें तो सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने न तो टिकट बुक कराते समय इस बात की जानकारी दी थी कि वह व्हील चेयर पैसेंजर हैं और न ही एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उन्‍होंने यह बात एयरलाइन अधिकारियों को बताई. एयरलाइन अधिकारियों को इस बाबत तब पता चला, जब वह अपनी निजी व्हील चेयर पर बैठकर विमान में पहुंची. एयरलाइन के अनुसार, 21 दिसंबर को दिल्‍ली से भोपाल के लिए 78 सीटों वाला Q400 एयरक्राफ्ट तैनात किया गया था. इस विमान में सीट संख्‍या 1ए इमरजेंसी-रो के अंतर्गत आती है.

यह कहता है नियम
विमानन नियमों के तहत, किसी भी व्हील चेयर पैसेंजर को इमरजेंसी-रो में बैठने की इजाजत नहीं दी जा सकती है. विमानन विशेषज्ञों का मानना है कि यदि किन्‍हीं कारणों से आपातकालीन स्थिति उत्‍पन्‍न हुई और यात्रियों को विमान से इवैक्‍यूवेट (उतारने की प्रक्रिया) करने की जरूरत पड़ी तो व्हील चेयर पैसेंजर के चलते इवैक्‍यूवेशन-प्रोसेस में बाधा आ सकती है. इन्‍हीं कारणों को ध्‍यान में रखते हुए केबिन-क्रू ने प्रज्ञा को सीट संख्‍या 1ए देने से इंकार कर दिया. एयरलाइन के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने बताया कि व्हील चेयर को देखते हुए केबिन-क्रू ने प्रज्ञा से अनुरोध किया कि वह सीट संख्‍या 1ए की जगह 2ए/बी पर बैठकर अपना सफर कर सकती हैं.

केबिन-क्रू की बात पर बिफरीं
एयरलाइन के मुताबिक प्रज्ञा ने केबिन क्रू के अनुरोध को ठुकराकर सीट संख्‍या 2ए/बी पर बैठने से इंकार कर दिया. जब एयरलाइन के अधिकारियों द्वारा उन्‍हें इमरजेंसी-रो और नियमों की जानकारी दी गई, तब जाकर साध्‍वी सीट बदलने के लिए राजी हुईं. इसके बाद प्रज्ञा ठाकुर ने विमान की सीट संख्‍या 2B पर बैठकर सफर किया. प्रज्ञा ठाकुर के मानने के बाद विमान को दिल्‍ली से भोपाल के लिए रवाना कर दिया गया. स्‍पाइस जेट के प्रवक्‍ता ने यात्रियों की सुरक्षा को प्राथमिकता बताते हुए सांसद साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर को हुई असुविधा के लिए खेद व्‍यक्‍त किया है.

ये भी पढ़ें - 
साध्वी प्रज्ञा का फ्लाइट में विवाद, कमलनाथ के मंत्री ने कहा- लड़ना ही है तो एमपी की खातिर लड़ें

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज