लाइव टीवी

इंदौर: एक्सीडेंट में मारे गए सफाईकर्मी की कार से मिली लेफ्टिनेंट की वर्दी और वायरलेस सेट

Arun Kumar Trivedi | News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 10:06 AM IST
इंदौर: एक्सीडेंट में मारे गए सफाईकर्मी की कार से मिली लेफ्टिनेंट की वर्दी और वायरलेस सेट
जयप्रकाश झा अपने परिवार के साथ मऊ से वैशाली, बिहार अपने घर छठ पूजा पर अपने घर जा रहा था. (File Photo)

आर्मी इंटेलिजेंस (Army Intelligence) की जांच में सामने आया है कि कार दुर्घटना (Car Accident) में मारा गया जयप्रकाश झा एक आर्मी अफसर (Army Officer) के यहां रहकर काम करता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 10:06 AM IST
  • Share this:
इंदौर. तीन दिन पहले मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में एक भीषण सड़क दुर्घटना (Road Accident) हुई थी. इस एक्सीडेंट में कार सवार छह लोगों की मौत हो गई थी. कार चला रहे जयप्रकाश झा ने भी मौके पर दम तोड़ दिया था. हादसे के बाद पुलिस को कार की तलाशी में एक वायरलेस सेट (Wireless Set), लेफ्टिनेंट की वर्दी (Lieutenant Uniform), लेफ्टिनेंट कर्नल (Lieutenant Colonel) का कैंटीन कार्ड मिला है. एक्सीडेंट में मारा गया कार चला रहा जयप्रकाश पेशे से सफाई कर्मचारी था. मंगलवार को वो मऊ से छठ पूजा (Chhath Puja) मनाने बिहार (Bihar) के वैशाली जा रहा था.

आर्मी इंटेलिजेंस कर रही मोबाइल और लैपटॉप की जांच

इंदौर के तेजाजी नगर थाना क्षेत्र में हुए इस सड़क हादसे में पहले बताया गया था कि एक आर्मी अफसर और उसके परिवार के लोगों की मौत हुई है. लेकिन जब कार की तलाशी ली गई और मौके पर पहुंची आर्मी इंटेलिजेंस ने जांच की तो चौंकाने वाला खुलासा सामने आया. मृतक जयप्रकाश झा की कार से रक्षा मंत्रालय से जुड़े कुछ दस्तावेज भी मिले हैं. बताया जा रहा है कि ये फर्जी हैं. जयप्रकाश एक लेफ्टिनेंट कर्नल के यहां सफाई कर्मचारी का काम करता था. आर्मी इंटेलिजेंस ने उस घर को भी सील कर दिया है जहां जयप्रकाश रहता था. वहीं मौके से मिले लैपटॉप और मोबाइल की भी जांच की जा रही है.

सफेद रंग की इस स्विफ्ट कार की सामने से आ रही एक अन्य कार से टक्कर हो गई थी. इस दुर्घटना में कार सवार छह लोगों की मौत हो गई थी जबकि दूसरी कार में सवार चार लोग घायल हुए थे (फोटो: पीटीआई)


लैपटॉप से मिले कई नियुक्ति पत्र

शुरुआती जांच में सामने आया है कि जयप्रकाश के लैपटॉप में नए नियुक्ति पत्र भी मिले हैं. आशंका जताई जा रही है कि फर्जी नियुक्ति मामले में जयप्रकाश की कोई भूमिका हो सकती है. आर्मी अधिकारी इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि जयप्रकाश कहीं सेना की सूचनाएं तो लीक नहीं कर रहा था. जयप्रकाश की कार से एक ऐसी फाइल भी मिली है जिस पर एकीकृत मुख्यालय रक्षा मंत्रालय लिखा हुआ है.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला

भोपाल में 3 दिन के लिए इकट्ठा हो रहे हैं देशभर के 25 लाख से अधिक मुस्लिम, जानें वजह...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 9:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...