अपना शहर चुनें

States

लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई: एक हफ्ते में पकड़ा दूसरा रिश्वतखोर, आरोपी बोला- आप कौंन हैं अपना आई कार्ड दिखाएं

लोकायुक्त की टीम ने बीना में एक इंजीनियर को 26 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है.
लोकायुक्त की टीम ने बीना में एक इंजीनियर को 26 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लोकायुक्त पुलिस (Lokayukta Police) ने हफ्ते में दूसरी बड़ी कार्रवाई करते हुए 26 हजार की रिश्वत (Bribe) के साथ एक इंजीनियर को रंगे हाथों पकड़ा है. मंडी बोर्ड के सहायक इंजीनियर बीना के ठेकेदार से रिश्वत ले रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2021, 10:42 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लोकायुक्त (Lokayukta) की टीम ने हफ्ते में दूसरी बड़ी कार्रवाई की है. इस बार लोकायुक्त का टीम ने बीना के ठेकेदार से 26 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते मंडी बोर्ड के सहायक इंजीनियर एनएस राजपूत को रंगे हाथों पकड़ा है. लोकायुक्त की टीम ने इंजीनियर (Engineer) को पकड़ा तो उले अपने पकड़े जाने पर भरोसा नहीं हुआ और रौब में इंजीनियर ने लोकायुक्त इंस्पेक्टर से आप कौन हैं, अपनी आईडी दिखाएं?

राजपूत एनएस ने ठेकेदार राकेश मोहन राय से सिक्यारिटी मनी 2 लाख 57 हजार रुपए वापस करने के एवज में रिश्वत मांगी थी. इसकी शिकायत ठेकेदार ने लोकायुक्त एसपी रामेश्वर चौबे से कर दी. इसके बाद रंगे हाथ पकड़े जाने के बाद इंजीनियर हंस रहा था, जिस पर लोकायुक्त इंस्पेक्टर ने कहा हंसिए मत आप खूंसघोर हैं.

इस काम के लिए मांगी थी रिश्वत
शिकायतकर्ता राकेश मोहन राय ने बताया कि वह सरकारी ठेकेदार हैं. 5 साल पहले उन्होंने 25 लाख की लागत से राहतगढ़ मंडी में सीसी रोड व भवन निर्माण किया था. इसकी सिक्योरिटी मनी 2 लाख 57 हजार रुपए जमा थी. पांच साल का गारंटी पीरियड पूरा होने के बाद मंडी बोर्ड को यह राशि लौटानी थी. इसके लिए आवेदन किया था. राहतगढ़ मंडी के प्रभारी सब इंजीनियर एनएस राजपूत का आवेदन के साथ नोड्यूज लगना था. इसके एवज में इंजीनियर ने 13 प्रतिशत राशि की मांग की. इसके बाद मंगलवार शाम 10 प्रतिशत के हिसाब से 26 हजार रुपए में बात पक्की हो गई.




कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल-15 साल में लड़कियां हो जाती हैं प्रजनन के लायक तो शादी की उम्र 21 करने की क्‍या जरूरत?

रिश्वत के पैसे लेकर हाथ किए सैनिटाइज

ठेकेदार ने जब लोकायुक्त से इसकी शिकायत की तो इंजीनियर को पकड़ने के लिए टीम बनाकर जाल बिछाया गया. बुधवार दोपहर ढाई बजे ठेकेदार इंजीनियर को मंडी बोर्ड कार्यालय में ही रुपए देने पहुंचा. रुपए लेने के बाद इंजीनियर ने ड्रॉज में रखे और फिर हाथ सैनिटाइज किए. जब लोकायुक्त इंस्पेक्टर केएस कल्चुरी ने राजपूत को रंगेहाथ पकड़ा, तो इंजीनियर इंस्पेक्टर को ही तेवर दिखाने लगा.

एक सप्ताह में दूसरी कार्रवाई

लोकायुक्त ने बीते एक सप्ताह में यह दूसरे इंजीनियर को रिश्वत लेते पकड़ा है. इसके पहले 7 जनवरी को कृषि अभियांत्रिकीय विभाग में पदस्थ यांत्रिकी सहायक राज सिंह को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज