लाइव टीवी

माफियाराज को खत्‍म करने के लिए कांग्रेस सरकार ने उठाया बड़ा कदम, MCOCA की तर्ज पर लाएगी कानून

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 13, 2019, 6:24 PM IST
माफियाराज को खत्‍म करने के लिए कांग्रेस सरकार ने उठाया बड़ा कदम, MCOCA की तर्ज पर लाएगी कानून
माफियाराज को खत्‍म करने के लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम.

मध्‍य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) अब मकोका (महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट) की तर्ज पर माफियाओं के खिलाफ कानून लाने जा रही है. प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) का कहना है कि नया कानून बनाकर सूबे में माफियाराज खत्‍म किया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) अब मकोका (महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट) की तर्ज पर माफियाओं के खिलाफ कानून लाने जा रही है, ताकि माफियाराज को जड़ से खत्‍म किया जा सके. मध्‍य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) का कहना है कि मकोका (Maharashtra Control of Organised Crime Act) की बदौलत महाराष्‍ट्र ने अंडरवर्ल्‍ड अपराध पर काबू पाया है और इसी तरह का कानून बनाकर सूबे में माफियाराज खत्‍म किया जाएगा. हालांकि गुरुवार को ही सीएम कमलनाथ ने भाजपा सरकार के राज में पनपे माफियाराज को खत्‍म करने के लिए खास दिशा निर्देश जारी किए हैं. जबकि सरकार का लक्ष्‍य है कि अगले पांच साल में माफियाओं को पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा.

माफियाओं पर कसेगा शिकंजा
मकोका की तर्ज पर मध्‍य प्रदेश में कानून बनाने को लेकर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का कहना है कि जिस तरह से महाराष्ट्र में मकोका के तहत संगठित और अंडरवर्ल्ड अपराध को खत्म करने का लक्ष्य था. उसी तर्ज पर अब मध्‍य प्रदेश को भी पूरी तरह से माफिया मुक्त बनाया जाएगा. यानी मध्‍य प्रदेश में यह कानून संगठित अपराध को रोकने की दिशा में काम करेगा. इसके दम पर मिलावटखोरी, कालाबाजारी, भूमाफिया, रेत माफिया, शराब माफिया, हथियारों की तस्करी, नकली दवा माफियाओं, जमाखोरी आदि पर सख्ती की जाएगी. कांग्रेस सरकार में पांच सालों में माफिया मुक्त मप्र नए कानून के तहत बनाया जाएगा.

सीएम ने की थी मीटिंग

मकोका को लेकर सीएम कमलनाथ की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक हो चुकी है, जिसमें संगठित अपराध को रोकने की दिशा में कानून बनाने को लेकर चर्चा हुई थी. डीजीपी और सीएम इस कानून को लेकर मॉनिटरिंग करेंगे. जबकि एसपी और कलेक्टर को कार्रवाई की रिपोर्ट हर रोज देनी होगी. हालांकि जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का कहना है कि मप्र में पहले ही माफियाओं को खत्म करने की दिशा में काम शुरू हो चुका है. इसी कड़ी में इंदौर में जीतू सोनी पर कार्रवाई की गई है और अब प्रदेशभर में दूसरे संभागों में भी कार्रवाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें-

कांग्रेस ने 'भारत बचाओ रैली' के लिए झोंकी ताकत,कमलनाथ ने दिल्‍ली में डाला डेरादेश के 23 प्रदेशों में मृगनयनी शोरूम खोलेगी कमलनाथ सरकार, ये है मकसद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 6:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर