हाथियों की फौज है-मॉनसून में मौज है: पिकनिक मनाने निकले कान्हा के गजराज

Krishna Sahu | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 20, 2019, 11:56 AM IST
हाथियों की फौज है-मॉनसून में मौज है: पिकनिक मनाने निकले कान्हा के गजराज
कान्हा में पिकनिक

पिकनिक में कान्हा के अलग-अलग जोन के सभी हाथियों को एक साथ रहने और घुलने - मिलने का मौका मिलता है

  • Share this:
कान्हा नेशनल पार्क में इन दिनों मौज-मस्ती चल रही है. ये फन सैलानियों या स्टाफ का नहीं है बल्कि पार्क के हाथी पिकनिक पर निकले हैं. एक या दो नहीं बल्कि पूरे 17 हाथी जंगल के सैर-सपाटे पर निकले हैं. यहां स्टाफ उन्हें 7 स्टार सुविधाएं दिला रहा है.पिकनिक के दौरान मसाज और मनपसंद खाना भी गजराज को दिया जा रहा है.
कान्हा नेशनल पार्क में इन दिनों दिलचस्प नज़ारा है.सालभर सैलानियों की खुशामद करने वाले हाथी खुद पिकनिक मना रहे हैं.पार्क में सूपखार, कान्हा, किसली, और मुक्की रेंज के 17 हाथी सैर-सपाटे पर निकल पड़े हैं. महावत साथ हैं लेकिन वो इन्हें कंट्रोल नहीं कर रहे बल्कि इनकी खातिरदारी में जुटे हैं.


हफ्ते भर की मौज-मस्ती

ये पिकनिक 7 दिन चलेगी.ये हाथी हफ्ता भर तक मौज-मस्ती करेंगे. इस दौरान इनके खान-पान की ख़ास व्यवस्था पार्क प्रबंधन कर रहा है. बाकायदा मैन्यू बनाकर उन्हें डिश परोसी जा रही हैं. हाथियों की मसाज और स्नान का भी विशेष इंतज़ाम किया गया है. पिकनिक के दौरान इन हाथियों को ब्यूटी पार्लर जैसी सुविधाएं भी दी जा रही हैं. इनकी आवभगत में पूरा पार्क प्रबंधन लगा हुआ है.हाथियों की खुशामदी का सिलसिला अलसुबह से शुरू हो जाता है. सुबह उन्हें नदी में घंटों नहलाया जाता है. फिर नीम के तेल से मालिश की जाती है.इस दौरान उनके नाखून काटने और हैल्थ चैकअप की भी व्यवस्था है.

हाथियों को मनपसंद खाना दिया जा रहा है


पार्क के ये रखवाले-कान्हा नेशनल पार्क में वन्य प्राणियों और वन की सुरक्षा में ये हाथी अहम भूमिका निभाते हैं. घने जंगलों और दुर्गम रास्तों में जहां गाड़ी चलना तो दूर की बात, पैदल चलना भी मुश्किल होता है.इन्हीं हाथियों पर बैठकर वनकर्मी दिन रात गश्त करते हैं. जब कोई वन्य प्राणि घायल या बीमार होता है तो इन्हीं हाथियों पर बैठकर डॉक्टर उन जानवरों तक पहुंचते हैं.
Loading...

हाथियों को पूरी तरह आराम दिया जाता है


एनर्जी के लिए ज़रूरी है
इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए पार्क प्रबंधन साल में एक बार मॉनसून के दौरान हाथियों के लिए ये पिकनिक करता है. इसमें सात दिन तक हाथियों की जमकर खातिरदारी की जाती है.हाथियों के साथ-साथ उनके महावत और चारा कटर का भी ख्याल रखा जाता है. उनका भी मेडिकल चैकअप होता है. पार्क प्रबंधन का मानना है कि इस कैंप के बाद हाथी तरोताज़ा होकर नई ऊर्जा के साथ फिर पार्क की सुरक्षा के लिए तैयार हो जाते हैं.

पूरे पार्क के 17 हाथी पिकनिक मनाने निकले हैं


  हाथियों को आराम-पिकनिक के दौरान हाथियों से कोई काम काम नहीं लिया जाता. उन्हें पूरी तरह से रिलैक्स दिया जाता है.पिकनिक में कान्हा के अलग-अलग जोन के सभी हाथियों को एक साथ रहने और घुलने - मिलने का मौका मिलता है.

ये भी पढ़ें-MP के पैरा स्विमर सत्येंद्र सिंह ने पार किया कैटलीना चैनल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 11:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...