Good News: मंडला में जन्मी अनोखी बच्ची, किसी बच्चे का वजन इतना नहीं होता जितना इसका, यकीन करना मुश्किल

मध्य प्रदेश के मंडला में अनोखी बच्ची के जन्म से सब हैरान हैं.

मध्य प्रदेश का मंडला जिला. यहां के स्वास्थ्य केंद्र में अनोखी बच्ची ने जन्म लिया है. डॉक्टर्स का कहना है कि ये दुर्लभ मामला है. इस तरह के बच्चे कम ही जन्म लेते हैं. फिलहाल मां बहुत खुश है. जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं.

  • Share this:
मंडला. मंडला जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 5  किलो 100 ग्राम वजन की अनोखी बच्ची का जन्म हुआ है. इस मामले ने सभी को हैरान कर दिया है, क्योंकि संभवतः महाकौशल के साथ-साथ पूरे मध्य प्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है. बच्ची की लंबाई  1.77 फिट है और वह पूरी तरह स्वस्थ है. यह मामला इसलिए भी अविश्वनीय हो चला है क्योंकि अमूमन नवजातों का वजन 2-3 किलो तक ही होता है.

गौरतलब है कि रक्षा कुशवाहा को प्रसव के लिए अंजनिया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भर्ती किया गया. स्टाफ नर्स ललिता ने बताया कि शुरुआत में देखने पर लगा कि महिला का प्रसव का समय ज्यादा बढ़ गया है और बच्चा पानी पी रहा है. इस मामले को केंद्र ने गंभीरता से लिया और तुरंत महिला का उपचार शुरू किया.

इस तरह के केस बहुत कम होते हैं- डॉ. घोष

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अधिकारी डॉ. अजय तोष  ने बताया कि उपचार शुरू होने के करीब 1 घंटे बाद रक्षा ने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया. फिलहाल जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं. डॉ. अजय का मानना है कि इस तरह के केस बहुत कम देखने या सुनने को मिलते हैं. और, अगर होते भी हैं तो किसी बड़े अस्पताल या जिला अस्पताल में होते हैं.

मां ने जताया इसी केंद्र पर भरोसा

डॉक्टरों के मुताबिक, यह पहला मौका है. जब किसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोई अनोखा बच्चा जन्मा हो. उनका कहना है कि मां ने जिला अस्पताल की अपेक्षा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर विश्वास ज्यादा जताया, इसी की बदौलत आज एक अनोखी बच्ची उनके पास है. इसे पाकर मां बहुत खुश है.

मैं बेहद खुश हूं – रक्षा

इस मामले पर नई-नई मां बनी रक्षा ने कहा- डॉक्टर पहले मुझे जिला अस्पताल भेज रहे थे. उनका कहना था कि स्थिति क्रिटिकल है. लेकिन, कोरोना की वजह से मैं किसी दूसरी जगह जाना नहीं चाहती थी. मैंने मन को समझाकर यहीं डिलेवरी करवाना उचित समझा. मैं खुश हूं कि मेरी बच्ची स्वस्थ है.