पानी नहीं तो दुल्हन नहीं, आधा गांव है कुंआरा

मध्‍य प्रदेश के मांडला जिले में पानी की बड़ी किल्‍लत है. हालात इस कदर खराब हैं कि इस गांव के लड़कों की शादियां तक नहीं हो रही हैं.

Krishna Sahu | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 20, 2019, 5:44 PM IST
Krishna Sahu | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 20, 2019, 5:44 PM IST
मध्य प्रदेश के मंडला जिले में पानी की भारी किल्लत है. कई गांव के लोग पानी के संकट से जूझ रहे हैं. जिले में एक गांव ऐसा है जहां पानी नहीं होने की वजह से दूसरे गांव के लोग इस गांव में अपनी लड़कियों की शादी नहीं कर रहे हैं. जिन लड़कियों की शादी यहां हो गई है, वे खुद को छला हुआ महसूस कर रही हैं.

जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर हृदय नगर ग्राम पंचायत के बकौरा गांव में पानी की किल्लत से एक नई समस्या पैदा हो गई है. यहां पानी की ऐसी किल्लत है कि इस गांव में कोई अपनी लड़की की शादी करने को तैयार नहीं है, जिसके चलते गांव के आधे से ज्यादा लड़के कुंवारे बैठे हैं.

झारखंड की रहने वाली माधुरी की शादी इसी गांव में हुई है. माधुरी बताती हैं कि धोखे से उसकी शादी कर यहां लाया गया. शादी के बाद पता चला कि गांव में पानी की इतनी बड़ी समस्या है.

पूरा गांव आश्रित है एक ही हेंडपंप पर

गांव से करीब एक किलोमीटर दूर एक हैंडपंप है, जिस पर पूरा गांव आश्रित है. गांव में एक तालाब भी था जो अब सूख गया है. पूरे गांव के लोग मजदूरी कर अपना पेट पालते हैं, लेकिन गांव की महिलाओं का सारा दिन पानी भरने में बीत जाता है. प्रशासन हमेशा की तरह जल्दी पानी मुहैया कराने का भरोसा दिला रहा है.

इस गांव में लड़कों की शादी के लिए तो कई लोग आए, लेकिन सबने कहा कि उनकी बेटी यहां प्यासी मर जाएगी. पूरे गांव में पानी का विकट संकट है. बारिश के मौसम को छोड़ दें तो सालभर यहां पानी की समस्या से लोगों को जूझना पड़ता है.
ये भी पढ़ें:  यहां जल संकट से परेशान बहुएं छोड़ रही हैं ससुराल, कई लड़कों के टूट रहे रिश्ते

सिंगाजी थर्मल पावर प्लांट की राख ही बनी खुद के लिए समस्या, 3 यूनिट बंद
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...