होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /मध्यप्रदेश के इस गांव में न तो गरीबी है और न ही बेरोजगारी

मध्यप्रदेश के इस गांव में न तो गरीबी है और न ही बेरोजगारी

आजीविका मिशन का बोर्ड, भैंसादाह ग्राम

आजीविका मिशन का बोर्ड, भैंसादाह ग्राम

भैंसादाह के ग्रामीणों ने गरीब से मुक्त होने के लिए स्वयं ही ठानी है. खेती पर निर्भर रहने वाले इस गांव के ग्रामीणों ने ख ...अधिक पढ़ें

    पूरे देश में गरीबी और बेरोजगारी को लेकर हंगामा हो रहा है, वहीं मध्यप्रदेश के मंडला में एक ऐसा गांव है जहां कोई भी गरीब नहीं है. इस गांव को गरीब और बेरोजगारी मुक्त गांव का प्रमाण पत्र भी मिला हुआ है. मंडला का भैंसादाह गांव ऐसा ही गांव है, जहां कोई गरीब नहीं है और बेरोजगार भी नहीं है. इस गांव में करीब 90 परिवार रहते हैं, जिनकी आबादी करीब-करीब 280 है.

    दरअसल, भैंसादाह के ग्रामीणों ने गरीब से मुक्त होने के लिए स्वयं ही ठानी है. खेती पर निर्भर रहने वाले इस गांव के ग्रामीणों ने खुद को गरीबी से मुक्त करने के लिए उन्नत कृषि करने की ठानी और आज हर परिवार करीब तीस से चालीस हजार रुपया प्रतिमाह की कमाई कर रहा है. गांव में सरकार द्वारा करवाए गए विकास कार्यों का भी सहयोग मिला और उन्नत सब्जी की खेती ने ग्रामीणों की तकदीर बदलने का काम किया.

    गांव के युवाओं का कहना है कि कम शिक्षित होने के कारण वे शहरो में मजदूरी करने के लिए जाते थे, लेकिन उस मजदूरी से उन्हें पर्याप्त आजीविका नहीं मिलती थी. ऐसे में फिर से गांव आकर आजीविका मिशन के तहत कृषि और स्वयं रोजगार से जुड़कर उच्च गुणवत्ता की सब्जियों की खेती करना शुरू किया. एक के बाद एक परिवार ने इस सब्जी की खेती को बढ़ावा दिया, जिससे अच्छी आमदनी होने लगी और ग्रामीणों के जीवन स्तर में बदलाव आया.

    गांव की महिलाओं ने बताया कि यहां अच्छी किस्म की फसल लगाने के लिए प्रोत्साहित किया गया है और सभी प्रकार की कृषि सुविधाएं दी गई है, जिससे गांव का आम इंसान अपनी मेहनत से पहले के कहीं बेहतर कमाई कर रहा है. आजीविका योजान अधिकारी विवेक जैन ने बताया कि गांव के 60 फीसदी परिवार ऐसे हैं जो 10 हजार रुपये प्रतिमाह कमा रहे हैं. गांव से बाहर गये युवाओं में ऑर्गेनिग खेती और फार्मिंग एक्टिविटी के प्रति रुचि बढ़ी रही है, जिससे यहां के कृषि उत्पादों में बढ़ोत्तरी आ रही है. उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में करीब पांच गांवों को इस योजना से गरीबी और बेरोजगारी मुक्त करने का लक्ष्य है.

    (मंडला से कृष्णा साहू की रिपोर्ट)

    Tags: Madhya pradesh news, Mandla news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें