जब भैया भये कोतवाल फिर बहना को डर काहे का
Mandla News in Hindi

जब भैया भये कोतवाल फिर बहना को डर काहे का
पुलिस को लेकर आम लोगों खासतौर से महिलाओं के मन में एक अजीब सा डर मौजूद हैं. इस डर के कारण महिलाएं अक्सर ही थाने में जाकर शिकायत करने से कतराती हैं. उनके इस डर को दूर करने के लिए एक टीआई ने जो मुहिम शुरू की है, वो हर पुलिसकर्मी के लिए एक मिसाल है.

पुलिस को लेकर आम लोगों खासतौर से महिलाओं के मन में एक अजीब सा डर मौजूद हैं. इस डर के कारण महिलाएं अक्सर ही थाने में जाकर शिकायत करने से कतराती हैं. उनके इस डर को दूर करने के लिए एक टीआई ने जो मुहिम शुरू की है, वो हर पुलिसकर्मी के लिए एक मिसाल है.

  • Share this:
पुलिस को लेकर आम लोगों खासतौर से महिलाओं के मन में एक अजीब सा डर मौजूद हैं. इस डर के कारण महिलाएं अक्सर ही थाने में जाकर शिकायत करने से कतराती हैं. उनके इस डर को दूर करने के लिए एक टीआई ने जो मुहिम शुरू की है, वो हर पुलिसकर्मी के लिए एक मिसाल है.

दरअसल, एमपी के सिवनी जिले के छपारा थाने में पदस्थ टीआई सतीश पटेल ने महिलाओं के मन से पुलिस का डर निकालने को लेकर एक मुहिम 'टीआई हमारा भाई' शुरू की है. इस मुहिम में युवतियां और महिलाएं टीआई को राखी बांध रही हैं, इसके बदले में टीआई से उनको सुरक्षा का वादा मिल रहा है.

राखी बांधने आई महिलाओं से टीआई खुद बेझिझक थाने आ कर अपनी किसी भी समस्या की शिकायत करने का निवेदन कर रहे हैं. ये मुहिम पहले तो रंग लाती नहीं दिखी लेकिन अब महिलाओं में इस पहल को लेकर रुझान बढ़ रहा है.



इस मुहीम के बारे में टीआई सतीश पटेल का कहना है कि यह मुहिम सामाजिक पुलिसिंग का एक हिस्सा है. टीआई की माने तो इस मुहिम के जरिए घर में रहने वाली महिलाओं और स्कूल कॉलेज में पढ़ने वाली युवतियों के मन से पुलिस के डर को दूर करने और सुरक्षा भावना जागृत करने पर जोर देना है. ऐसा होने पर महिलाएं और लड़कियां उनके साथ घटित होने वाली घटना को आसानी से आकर थाने में बता सकेंगी, जिससे पुलिस को भी मदद मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading