होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /अधिकारियों के आगे हारी सरकार, स्कूली बच्चों को यूनिफार्म का इंतजार

अधिकारियों के आगे हारी सरकार, स्कूली बच्चों को यूनिफार्म का इंतजार

देवदरा प्रथामिक विद्यालय, मंडला

देवदरा प्रथामिक विद्यालय, मंडला

जिले की स्कूलों के बच्चों को दो माह बाद भी आवश्यक पाठ्य सामग्री और यूनिफार्म की आवश्यकता है. संबंधित विभाग के अधिकारियो ...अधिक पढ़ें

    प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह मध्यप्रदेश की तरक्की के लिए कई प्रकार की योजनाओं पर काम कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन के अधिकारी ही इन योजनाओं को पलीता लगाने में जुटे हुए हैं. मंडला में मुख्यमंत्री द्वारा स्कूली बच्चों को यूनिफार्म देने के उद्देश्य से योजना संचालित की जा रही है, जिसकी अंतिम तारीख भी आ गई है, लेकिन प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारियों की इस ओर ध्यान ही नहीं है.

    प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए लगातार राज्य सरकार द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन मंडला जिले के प्रशासनिक अधिकारी सरकार की योजनाओं को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. शिक्षा का नया सत्र शुरू हुए दो माह से ज्यादा का वक्त हो गया है, लेकिन अभी तक सरकारी स्कूलों के बच्चों को यूनिफार्म तक नहीं नसीब हुए हैं. जिले में कई जगहों पर पाठ्य पुस्तकें और नोटबुक भी नहीं पहुंचे हैं. ऐसे में ये बच्चे कैसे मध्यप्रदेश की नींव को मजबूत करेंगे.

    जिले की स्कूलों के बच्चों को दो माह बाद भी आवश्यक पाठ्य सामग्री और यूनिफार्म की आवश्यकता है. संबंधित विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के चलते आज भी ये बच्चे यूनिफार्म और पाठ्यपुस्तकों के इंतजार में हर रोज स्कूल पहुंचते हैं.

    दरअसल, प्रदेश के मुखिया ने ग्रामीण क्षेत्र में स्वयं सहायता समूहों में काम कर रही महिलाओं को यूनिफार्म की सिलाई का काम सौंपा है. यह सोचकर कि यूनिफार्म वितरण में भ्रष्टाचार की गुंजाइस भी खत्म हो जाएगी और महिलाओं को रोजगार भी मिलेगा, लेकिन मंडला जिले में यह काम प्रशासनिक अधिकारियों के सुस्त रवैये के चलते अधर में लटका है. आजीविका समूह के अधिकारी ने कहा कि बच्चों की यूनिफार्म सिलाई का काल जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा.

    बहरहाल, प्रशासनिक अधिकारी 15 सितंबर तक काम पूरा होने का आश्वासन तो दे रहे हैं, लेकिन आपको बता दें कि जिले में दो हजार सात सौ छह सरकारी स्कूल है, जिनमें करीब एक लाख तैंतीस हजार अठानवें छात्र-छात्राएं पढ़ रहे हैं. आखिर 15 सितंबर तर ये काम कैसे पूरा होगा.

    (मंडला से कृष्णा साहू)

    Tags: Madhya pradesh news, Mandla news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें