मंदसौर सीएमएचओ का लेखपाल महिला डॉक्टर से ले रहा था रिश्वत, हुआ गिरफ्तार

मंदसौर के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) कार्यालय में पदस्थ लेखपाल अजय चौरसिया को लोकायुक्त पुलिस ने एक महिला चिकित्सक से 3500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया.

Narendra Dhanotiya | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 9, 2019, 6:29 PM IST
Narendra Dhanotiya
Narendra Dhanotiya | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 9, 2019, 6:29 PM IST
मंदसौर के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) कार्यालय में लोकायुक्त पुलिस ने छापा मारकर कार्यालय में पदस्थ लेखपाल अजय चौरसिया को 3500 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. ग्रेड 2 सहायक अजय चौरसिया शामगढ़ में पदस्थ डॉ शोभा मोरे के मातृत्व अवकाश के बाकी वेतन को निकलवाने के लिए उनसे रिश्वत मांग रहा था.

लेखपाल के रिश्वत लेते पकड़े जाने के बाद लोकायुक्त पुलिस साक्ष्य के रूप में केमिकल से जांच करते




डॉ शोभा मोरे ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को की थी. डॉ शोभा मोरे ने बताया कि उनका 6 महीने का मातृत्व अवकाश बाकी था, सीएमएचओ महेश मालवीय को भी उन्होंने बताया था कि उन्होंने मातृत्व अवकाश का बकाया वेतन स्वीकृत कर दिया, उसके बाद भी उन्हें वेतन नहीं मिला. मोरे ने कहा- '181 सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करने के बाद भी नहीं मिला, तब मुझे लगा कि मुझे इसकी शिकायत लोकायुक्त को करनी चाहिए क्योंकि मैं रिश्वत नहीं देना चाहती थी.'

डॉ शोभा मोरे, महिला चिकित्सक शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शामगढ़ जिनसे लेखपाल ने मांगी थी रिश्वत


लोकायुक्त पुलिस ने सीएमएचओ कार्यालय में पदस्थ बाबू अजय चौरसिया को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. लोकायुक्त डीएसपी वेदांत शर्मा ने बताया कि हम किसी अन्य कार्य से सोमवार को इधर आए थे तब डॉक्टर शोभा मोरे में बताया कि मेरा मातृत्व अवकाश नहीं निकल रहा है. उन्होंने हमें शिकायत की और आज हमने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार किया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...