होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

बीजेपी नेता और पार्षद पद के प्रत्याशी राम कोटवानी को कोर्ट ने सुनायी 1 साल की सजा

बीजेपी नेता और पार्षद पद के प्रत्याशी राम कोटवानी को कोर्ट ने सुनायी 1 साल की सजा

Mandsaur News. बीजेपी नेता राम कोटवानी को सजा सुनाने के बाद कोर्ट ने उसे जमानत भी दे दी है.

Mandsaur News. बीजेपी नेता राम कोटवानी को सजा सुनाने के बाद कोर्ट ने उसे जमानत भी दे दी है.

Mandsaur News. शासकीय अधिकारी के साथ मारपीट और जान से मारने की धमकी देने के इस केस में 10 साल चली वैधानिक कार्रवाई के बाद अब सीजेएम कोर्ट ने राम कोटवानी को दोषी पाते हुए उसे 1 साल की जेल और ₹500 अर्थदंड दिया है. इसके साथ ही अन्य दूसरे मामले में गुमास्ता कानून का उल्लंघन करने के आरोप में ₹1500 अर्थदंड लगाया है. इस प्रकार राम कोटवानी को 1 साल जेल की सजा और ₹2000 जुर्माना भरना होगा.

अधिक पढ़ें ...

मंदसौर. नगरीय निकाय चुनाव के बीच मंदसौर से बीजेपी के लिए एक परेशानी पैदा करने वाली खबर आयी है. पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष बीजेपी नेता राम कोटवानी को अदालत ने एक साल की सजा सुना दी है. कोटवानी को बीजेपी ने फिर से टिकट देकर वॉर्ड 11 से पार्षद पद का प्रत्याशी बनाया है.

मंदसौर के सीजेएम कोर्ट ने बीजेपी नेता राम कोटवानी को 1 साल की सजा सुनाई है. राम कोटवानी मंदसौर नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष हैं और अभी हो रहे नगर पालिका चुनाव में वॉर्ड 11 से बीजेपी के टिकट पर पार्षद का चुनाव लड़ रहे हैं.

ये है अपराध
बीजेपी के नेता राम कोटवानी ने साल 2012 में श्रम निरीक्षक हरिनारायण शर्मा के साथ मारपीट की थी. उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी थी. श्रम निरीक्षक ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी थी. मामला अदालत पहुंच गया था. शासकीय अधिकारी के साथ मारपीट और जान से मारने की धमकी देने के इस केस में 10 साल चली वैधानिक कार्रवाई के बाद अब सीजेएम कोर्ट ने राम कोटवानी को दोषी पाते हुए उसे 1 साल की जेल और ₹500 अर्थदंड दिया है. इसके साथ ही अन्य दूसरे मामले में गुमास्ता कानून का उल्लंघन करने के आरोप में ₹1500 अर्थदंड लगाया है. इस प्रकार राम कोटवानी को 1 साल जेल की सजा और ₹2000 जुर्माना भरना होगा.

ये भी पढ़ें- OMG : बार में पी शराब फिर सड़क पर बाल पकड़कर लड़ीं लड़कियां, खूब चले लात घूंसे, Video

वकील का बयान
राम कोटवानी के एडवोकेट पुखराज दशोरा ने बताया कि न्यायालय ने उनके मुवक्किल को 1 साल की सजा सुनाई है. इस मामले में उन्हें अपील करने का अधिकार भी है. जमानत अर्जी लगाई थी जिस पर न्यायालय ने ₹15000 रुपये के मुचलके पर उन्हें जमानत दे दी है.

ये भी पढ़ें- निकाय चुनाव के प्रचार में कहां हैं दिग्विजय सिंह? पूर्व सीएम की गैर मौजूदगी से बीजेपी पशोपेश में

ऐन चुनाव के समय सजा
नगर पालिका चुनाव में राम कोटवानी वार्ड नंबर 11 से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी हैं. उनके खिलाफ कांग्रेस सहित सात उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. ऐसे में ऐन चुनाव के समय अदालत के फैसले से राम कोटवानी बैकफुट पर आ गए हैं. उन्होंने इस मामले में मीडिया को कोई भी जवाब नहीं दिया है.

Tags: Madhya pradesh latest news, Mandsaur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर