शिवना नदी में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर कोर्ट ने कलेक्टर से मांगा जवाब
Mandsaur News in Hindi

शिवना नदी में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर कोर्ट ने कलेक्टर से मांगा जवाब
शिवनी नदी में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर कोर्ट में याचिका दायर

कोर्ट ने नगर पालिका मंदसौर और जिला कलेक्टर समेत अन्य जिम्मेदार विभागों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है कि आखिर क्या कारण है कि लाखों रुपए खर्च करने के बावजूद शिवना नदी प्रदूषण मुक्त नहींं हो पाई है.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के मंदसौर की लीगल एडवाइजर और सामाजिक कार्यकर्ता माधुरी सोलंकी ने शिवना नदी में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर कोर्ट में याचिका दायर की है. उन्‍‍‍‍‍‍होंने विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से यह याचिका दायर की है. मामले में कोर्ट ने नगर पालिका मंदसौर और जिला कलेक्टर समेत अन्य जिम्मेदार विभागों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है कि आखिर क्या कारण है कि लाखों रुपए खर्च करने के बावजूद शिवना नदी प्रदूषण मुक्त नहींं हो पाई है.

माधुरी सोलंकी ने बताया कि जब तमाम प्रयासों के बाद भी प्रशासन ने शिवना नदी की ओर विशेष ध्यान नहीं दिया, तब मजबूर होकर न्यायालय का सहारा लेना पड़ा. अब न्यायालय संबंधित अधिकारियों से अपने स्तर पर जवाब तलब कर रहा है.

माधुरी सोलंकी ने न्यूज़18 से बातचीत करते हुए कहा कि शिवना नदी के किनारे भगवान पशुपतिनाथ का मंदिर है और लोग इसे पवित्र नदी मानते हैं. शिवना नदी में गंदे नालों का पानी मिल रहा है, यहां तक कि नगर पालिका के कर्मचारी भी इसमें सेप्टिक टैंक का पानी मिला रहे हैं. इसे देखते हुए पहले जिला प्रशासन का ध्यान इस ओर दिलाया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई तो न्यायालय का दरवाजा खटखटाना पड़ा.



ये भी पढ़ें- नहीं सुधरे उज्जैन के अफसर, क्षिप्रा नदी में डाल रहे हैं डैम का पानी
ये भी पढ़ें - अमावस्या पर क्षिप्रा नदी सूखने से कमलनाथ सख्त, उज्जैन संभागायुक्त और कलेक्टर को हटाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading