OMG!! बस्ती में घुसे 13 फीट लंबे मगरमच्छ ने भीड़ पर कर दिया हमला...देखें VIDEO
Mandsaur News in Hindi

OMG!! बस्ती में घुसे 13 फीट लंबे मगरमच्छ ने भीड़ पर कर दिया हमला...देखें VIDEO
मंदसौर में बस्ती में घुसा मगरमच्छ

वन विभाग की रेस्क्यू टीम के अनुसार ये अभी तक का उनका सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन रहा. इसके पहले उन्होंने कभी इतने बड़े मगरमच्छ को नहीं पकड़ा था

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मंदसौर (MANDSAUR)ज़िले में आयी बाढ़ अपने साथ जीव-जन्तु भी ले आयी है. अब बस्तियों में पानी के साथ मगरमच्छ (Crocodile) भी घूम रहे हैं. अड़मालिया गांव में 13 फीट लंबा और 700 किलो वजनी मगरमच्छ आ गया. उसने भीड़ पर हमला कर दिया. बाद में वो पकड़ तो लिया गया लेकिन  उसे पकड़ने में रेस्क्यू टीम के पसीने छूट गए.


आधी रात में मची चीख़-पुकार
अड़मालिया गांव में आधी रात में चीख-पुकार मच गयी. दरअसल गांव में एक भारी-भरकम मगरमच्छ घुस आया था. गांव वालों की जैसे ही उस पर नज़र मची, गांव में मानो भू-चाल सा आ गया. फौरन वन विभाग को खबर दी गयी. टीम भी मौके पर पहुंच गयी, लेकिन अंधेरा और बारिश होने के काऱण मगर को पकड़ा नहीं जा सका. टीम ने सुबह होने का इंतज़ार किया.







सिर पर पैर रखकर भागे लोग
सुबह होते ही पूरे गांव में ख़बर फैल गयी. मगर को देखने के लिए लोग जमा हो गए. वो मगर को देखना भी चाह रहे थे और डर भी रहे थे. शोर-शराबे और भीड़ से गुस्साए मगरमच्छ ने भीड़ पर हमला कर दिया. किसी तरह लोग जान बचाकर भागे, किसी की बाइक छूट गई तो किसी के शूज और चप्पल वहां छूट गए. इतने भारी भरकम मगरमच्छ को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी. फिर भी किसी तरह वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने इस भारी-भरकम मगरमच्छ को रेस्क्यू कर रस्सी से बांधकर गाड़ी में डाला.

रेस्क्यू टीम का कहना है कि पहली बार उसने इतना बड़ा मगर पकड़ा


अब तक का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन
वन विभाग की रेस्क्यू टीम के अनुसार ये अभी तक का उनका सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन रहा. इसके पहले उन्होंने कभी इतने बड़े मगरमच्छ को नहीं पकड़ा था. ये मगर 13 फीट लंबा और 700 किलो से ज़्यादा वजनी था. रेस्क्यू टीम में वनपाल तनुज गुप्ते, वनपाल पुष्कर मालवीय, जितेंद्र सिंह पवार, वनरक्षक सौरभ जैन, कादर खान, जयेश पाटीदार की गांव वालों ने भी पूरी मदद की. सबने मिलकर मगर को पकड़ लिया.

हर तरफ बाढ़
पूरा मंदसौर ज़िला इस वक़्त ज़बरदस्त बाढ़ से घिरा है. नदी-नाल उफने हुए हैं और रपटों-पुल-पुलियों पर पानी बह रहा है. गांव का ज़िला मुख्यालय से सड़क संपर्क टूटा हुआ है. लोग जान हथेली पर रखकर एक से दूसरी जगह आ-जा रहे हैं. इतनी बारिश हुई कि पशुपतिनाथ मंदिर में भगवान के चारमुख भी जलमग्न हो गए. मंदिर परिसर खाली कराना पड़ा. गांधी सागर डैम के गेट भी खोलने पड़े थे. निचली बस्तियों में पानी भरने लगा तो प्रशासन ने अलर्ट जारी किया.

ये भी पढ़ें-मध्य प्रदेश की 313 आंगनवाड़ी बनीं बाल शिक्षा केंद्र

MP में फिर उठी पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading