प्याज के दाम सुनकर किसान को लगा 'सदमा', बेटे के सामने आया हार्ट-अटैक, मौत
Mandsaur News in Hindi

प्याज के दाम सुनकर किसान को लगा 'सदमा', बेटे के सामने आया हार्ट-अटैक, मौत
प्रतीकात्मक फोटो

मंदसौर जिले में भेरूलाल मालवीय अपना 27 क्विंटल प्याज लेकर आया था. मंडी में उसे केवल 10045 रुपये मिले, 372 प्रति क्विंटल के मान से प्याज बिका तो किसान को गहरा सदमा लगा.

  • Share this:
(मंदसौर से नरेंद्र धनौतिया की रिपोर्ट)

मध्य प्रदेश में प्याज के दाम लगातार गिरते जा रहे हैं, ऐसे में किसान प्याज के दाम को लेकर परेशान हैं. प्याज के दाम को लेकर जहां किसान सदमे में है, भाव सुनकर बेहोश हो रहे हैं, वहीं प्याज बेचने आए एक किसान की सदमे के कारण मौत हो गई है. घटना मंदसौर कृषि उपज मंडी की है.  मिली जानकारी के मुताबिक, किसान प्याज बेचने आया था. प्याज के दाम जैसी उम्मीद थी वैसे नहीं मिले किसान को अचानक हार्ट अटैक हुआ और उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया.

दरअसल, मंदसौर जिले की मल्हारगढ़ तहसील के उजागरिया गांव का किसान भेरूलाल मालवीय अपना 27 क्विंटल प्याज लेकर आया था. मंडी में उसे केवल 10045 रुपये मिले, 372 प्रति क्विंटल के मान से प्याज बिका तो किसान गहरे सदमे में चला गया. व्यापारी से भुगतान लेकर आया तो अचानक उसके सीने में दर्द हुआ तुरंत उसे चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया. 40 साल की उम्र का भेरूलाल मालवीय सदमे के कारण अचानक गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई.



किसान के गांव उजागरिया में किसान भेरूलाल मालवीय के घर मातम पसरा था. भेरूलाल का पुत्र रवि जो अभी नाबालिग है वह भी भेरूलाल के साथ प्याज बेचने गया था. उसकी आंखों के सामने ही भेरूलाल की मौत हुई थी. रवि ने बताया कि उन्होंने प्याज बेचे और अचानक पापा को सीने में दर्द हुआ और उनकी मौत हो गई.भेरूलाल के परिजनों का कहना है कि प्याज के सही दाम न मिलने के कारण उनकी मौत हुई है. गहरा सदमा उन्हें लगा है, परिवार में छोटे-छोटे बच्चे हैं उनका पालन पोषण कैसे होगा, भेरूलाल का जो पुत्र रवि है और वह भी बहुत छोटा है. परिजनों की मांग है कि सरकार को परिवार की कुछ मदद करना चाहिए.
प्याज के भाव ₹50 प्रति क्विंटल से लगाकर ₹800 प्रति क्विंटल बिक रहे हैं. लेकिन एवरेज भाव 300 से ₹400 प्रति क्विंटल है. इसमें किसानों की लागत भी नहीं निकल रही है लागत तो दूर जो किसान प्याज तैयार करके मंडी में लाते हैं उसको लाने का खर्चा भी किसानों की हाथ नहीं लग रहा है.

यह भी पढ़ें- कमलनाथ सरकार लाएगी 'अध्यात्म विभाग', बंद होगा आनंद विभाग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading