महिला अफसर ने फेसबुक पर लिखा, 'मैं पद्मावती देखने जाऊंगी', और फिर...

Vinod Gaur | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 15, 2017, 6:38 PM IST
महिला अफसर ने फेसबुक पर लिखा, 'मैं पद्मावती देखने जाऊंगी', और फिर...
मध्य प्रदेश में मंदसौर नगर पालिका की सीएमओ सविता प्रधान द्वारा सोशल मीडिया पर कमेंट करने से नाराज करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने दोपहर के वक्त हंगामा खड़ा कर दिया
Vinod Gaur | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 15, 2017, 6:38 PM IST
पद्मावती फिल्म को देखने के मामले में मध्य प्रदेश में मंदसौर नगर पालिका की सीएमओ सविता प्रधान द्वारा सोशल मीडिया पर कमेंट करने से नाराज करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने दोपहर के वक्त हंगामा खड़ा कर दिया. आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने सीएमओ सविता प्रधान को निलंबित करने की मांग उठाते हुए उनके खिलाफ जमकर नारे लगाना शुरु कर दिए .

दरअसल, सीएमओ सविता प्रधान ने फेसबुक पर लिखा था कि' 'मैं फिल्म देखने जाऊंगी'. और करणी सेना पहले ही मंदसौर के किसी भी टॉकीज में फिल्म नहीं चलने देने का ऐलान कर चुकी है. लेकिन अब जल्द ही यह फ़िल्म मंदसौर के एक टॉकीज में चलने वाली है. ऐसे में नगर पालिका सीएमओ द्वारा सोशल मीडिया पर इस फिल्म को देखने का बयान जारी करने के बाद करणी सेना के पदाधिकारी भड़क उठे और उन्होंने कार्यालय का घेराव कर दिया.

करणी सेना के पदाधिकारियों ने इस मामले में समाज का अपमान करने का आरोप लगाते हुए सीएमओ से माफ़ी मांगने की भी मांग उठाई थी, लेकिन खास बात यह हे की इस घटना के बाद सीएमओ बातचीत करने के बजाय पालिका कार्यालय से अचानक गायब हो गईं. इसके बाद गुस्साए कार्यकर्ताओं ने उन्हें वापस आकर सार्वजनिक माफी मांगने की मांग उठाते हुए उनका पुतला फूंक डाला.

नाराज कार्यकर्ता डेढ़ बजे के लगभग अचानक नगरपालिका कार्यालय पहुंच गए और उन्होंने पूरे कार्यालय का घेराव कर मेन गेट को बंद कर दिया. करणी सेना के कार्यकर्ता काफी देर पालिका कार्यालय में हंगामा करते रहे और उन्होंने कई विभागों में हो रहे सरकारी कामकाज को भी बंद करवा दिया.

हालाकि बाद में सिटी कोतवाली थाना पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर जाकर कार्यकर्ताओं से तीन दिन में मामला सुलझाने की बातचीत की तब जाकर उनका गुस्सा शांत हुआ.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर