Home /News /madhya-pradesh /

पढ़िए, फसल के बाद अब शराब कारोबार पर कैसे पड़ा सूखे का असर

पढ़िए, फसल के बाद अब शराब कारोबार पर कैसे पड़ा सूखे का असर

प्रदेश में पिछले सीजन के दौरान हुई अल्पवर्षा और उसके बाद सुखे का असर अब बाजारों के अलावा शराब कारोबार पर भी साफ नजर आ रहा है.

प्रदेश में पिछले सीजन के दौरान हुई अल्पवर्षा और उसके बाद सुखे का असर अब बाजारों के अलावा शराब कारोबार पर भी साफ नजर आ रहा है.

प्रदेश में पिछले सीजन के दौरान हुई अल्पवर्षा और उसके बाद सुखे का असर अब बाजारों के अलावा शराब कारोबार पर भी साफ नजर आ रहा है.

प्रदेश में पिछले सीजन के दौरान हुई अल्पवर्षा और उसके बाद सूखे का असर अब बाजारों के अलावा शराब कारोबार पर भी साफ नजर आ रहा है.

दरअसल, मंदसौर में आबकारी विभाग ने अगले साल के कारोबार के लिए 28 ग्रुप के लायसेंसी ठेकों के टेण्डर बुलाये थे, लेकिन केवल सात ग्रुप पर ही टेण्डर पत्रक आने से बाकि 21 ग्रुपों के लायसेंस की कार्रवाई कैंसिल करना पड़ी.

खास बात यह है कि प्रशासन को जिन सात ग्रुपों के टेण्डर मिले हैं, उन पर भी उन्हें ज्यादा राजस्व की आय नहीं मिली है. हालांकि, राजस्थान की सीमा से लगे चम्बल बांध के ग्रुप का ठेका पिछले साल की तुलना में 17 फीसदी अधिक रकम यानी 2 करोड़ 25 लाख 25 हजार 512 रुपए के टेण्डर पर स्वीकृत हुआ है.

लिहाजा, विभाग ने इसके समेत बाकि के 6 ग्रुप के लायसेंस स्वीकृत कर दिए हैं. लेकिन बाकि बचे 21 ग्रुपों में टेण्डर पत्रक ही नहीं आने से विभाग के अधिकारी खासे चिंता में हैं.

आबकारी उपायुक्त अमोलकसिंह छाबड़ा ने बताया कि, विभाग ने दोबारा टेण्डर बुलाने के लिये 11 मार्च की तारीख तय की है. हालांकि, इलाके में पड़े सूखे और सिंहस्थ आयोजन के चलते कारोबारियों का इस बार इन ठेकों के प्रति कम रुचि नजर आ रही है.

Tags: Mandsaur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर