MP उपचुनाव 2020: CM शिवराज का कांग्रेस पर 'प्रहार', कहा- कई टुकड़ों में बंटी है पार्टी

मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को शिवराज सिंह और कमलनाथ के बीच साख की लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है (न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)

मंदसौर (Mandsaur) में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) ने कहा कि राहुल गांधी ने कहा यह (इमरती देवी पर कमलनाथ की टिप्पणी) दुर्भाग्यपूर्ण है, मैं माफी मांगता हूं. मगर कमलनाथ कहते हैं मैं माफी नहीं मांगूंगा... कांग्रेस की स्थिति तो यह हो गई है, एक दिल के टुकड़े हजार हुए, कोई इधर गिरा, कोई उधर गिरा

  • Share this:
    मंदसौर. मध्य प्रदेश के चुनावी घमासान (MP Assembly Byelection 2020) में नेता जोर-शोर से एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh) पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता कमलनाथ (Kamalnath) पर उनके 'आइटम' वाले बयान को लेकर फिर उन पर जमकर बरसे. रविवार को मंदसौर (Mandsaur) में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि राहुल गांधी ने कहा यह (इमरती देवी पर कमलनाथ की टिप्पणी) दुर्भाग्यपूर्ण है, मैं माफी मांगता हूं. मगर कमलनाथ कहते हैं मैं माफी नहीं मांगूंगा... कांग्रेस की स्थिति तो यह हो गई है, एक दिल के टुकड़े हजार हुए, कोई इधर गिरा, कोई उधर गिरा.



    दरअसल पिछले रविवार को ग्वालियर के डबरा में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ की जुबान फिसल गई थी. उन्होंने मंच से यहां से बीजेपी की उम्मीदवार इमरती देवी को 'आइटम' कहकर संबोधित किया था. कमलनाथ के इस बयान के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनकी जबरदस्त खिंचाई की थी. कमलनाथ के इस बयान का चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए राज्य निर्वाचन आयोग से इसपर विस्तृत रिपोर्ट तलब की थी.



    बाद में इसे लेकर जब कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांथी से सवाल पूछा गया तो उन्होंने भी इसे कमलनाथ की गलती माना, और कहा कि कांग्रेस की ऐसी भाषा और संस्कृति नहीं है. राहुल गांधी के यह कहने के बाद भी कमलनाथ ने अपने दिए अपमानजनक बयान के लिए माफी नहीं मांगी थी.



    3 नवंबर को 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, 10 नवंबर को आएंगे नतीजे
    बता दें कि इसी साल मार्च में इमरती देवी समेत कांग्रेस के 22 विधायक पाला बदलकर बीजेपी में शामिल हो गए थे. इससे कांग्रेस की तत्कालीन कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी जिसके बाद राज्यपाल ने सदन में बहुमत परीक्षण करवाने के निर्देश दिया था. मगर इससे पहले ही 20 मार्च को कमलनाथ ने सीएम हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.

    मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होने हैं. वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी. इन 28 सीटों पर 12 मंत्रियों सहित कुल 355 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. बीजेपी ने उन सभी 25 लोगों को अपना प्रत्याशी बनाया है, जो कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.