मूसलाधार बारिश में भगवान पशुपतिनाथ भी भीग गए, गर्भगृह में भरा शिवना का पानी
Mandsaur News in Hindi

मूसलाधार बारिश में भगवान पशुपतिनाथ भी भीग गए, गर्भगृह में भरा शिवना का पानी
पशुपतिनाथ मंदिर, मंदसौर

हैदर वास गांव में लगभग 500 लोगों को घरों से बाहर निकालकर राहत शिविरों में पहुंचाया गया है

  • Share this:
मंदसौर में हो रही भारी बारिश के कारण सारे नदी-नाले उफान पर आ गए हैं. सड़कों और पुल-पुलियों पर पानी भरा है और गांवों का ज़िला मुख्यालय से सड़क संपर्क टूट गया है. शिवना नदी में ऐसी बाढ़ आयी कि उसके तट पर बैठे भगवान पशुपतिनाथ भी जलमग्न हो गए.

भारी बारिश के कारण मंदसौर ज़िले के हैदर वास, बादरी, लूनाहेड़ा, काचरिया,चंद्रावत और बाज खेड़ी गांव पानी में घिर गए हैं. यहां घरों में पानी घुस गया है. लोग घर से बाहर निकलकर छतों पर बैठे है. यश नगर, सुशासन भवन, कलेक्टर भवन के अलावा धान मंडी क्षेत्र, नयापूरा क्षेत्र,नयापुरा रोड सहित कई बस्तियों में पानी घुस गया है.शिवना नदी में बाढ़ के कारण पशुपतिनाथ मंदिर के गर्भ गृह में पानी घुस गया है. मंदिर में विराजित अष्ट मुखी भगवान पशुपतिनाथ महादेव के चार मुख जलमग्न हो गए हैं.

डैम के गेट खोले
बारिश के बाद अटल सागर बांध के गेट खोल दिए गए हैं. रेतम बेराज और गाडगिल सागर दोनों बांध के गेट खोल दिए गए हैं.गांधी सागर बांध का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है इसलिए प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है. कलेक्टर मनोज पुष्प ने बुधवार को स्कूलों की छुट्टी कर दी थी.



राहत शिविर


हैदर वास गांव में लगभग 500 लोगों को घरों से बाहर निकालकर राहत शिविरों में पहुंचाया गया है. मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि कई लोग अभी भी घर की छतों पर बैठे हैं इन्हें पशुपतिनाथ मंदिर के अतिथि गृह में शिफ्ट किया जा रहा है. वहां उनके खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है.

ये भी पढ़ें-बीजेपी नेताओं की हत्या की साज़िश! बदमाश हैदर अली गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading