SI ने पूर्व सरपंच को ऑफिस से उठाने के 8 घंटे बाद डोडा-चूरा भरे वाहन के साथ बताई थी गिरफ्तारी!
Mandsaur News in Hindi

SI ने पूर्व सरपंच को ऑफिस से उठाने के 8 घंटे बाद डोडा-चूरा भरे वाहन के साथ बताई थी गिरफ्तारी!
पूर्व सरपंच की गिरफ्तारी मामले में सीसीटीवी मिलने के बाद आया नया मोड़.

सिटी कोतवाली पुलिस का कहना था कि पूर्व सरपंच को डोडा चूरा की तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है, लेकिन सरंपच के कार्यालय से मिले सीसीटीवी फुटेज से कहानी में नया मोड़ आ गया है.

  • Share this:
मंदसौर की सिटी कोतवाली पुलिस  गत 9 जनवरी को ढाई क्विंटल डोडाचूरा पकड़ने के मामले में नए आरोपों से घिर गई है. पुलिस का कहना था कि पूर्व सरपंच को डोडाचूरा की तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, लेकिन पूर्व सरंपच के कार्यालय से मिले सीसीटीवी फुटेज से मामले में नया मोड़ आ गया है. राजाखेड़ी गांव के लोग मंदसौर के नवागत पुलिस अधीक्षक तुषारकांत विद्यार्थी से मिले और उन्हें सीसीटीवी फुटेज की जानकारी दी.  ग्रामीणों ने मांग की है कि मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए और निर्दोष पूर्व सरपंच पर दर्ज केस वापस लिया जाए.

ग्रामीणों ने सीटीटीवी फुटेज से पहचानी SI की कार
ग्रामीणों ने पूर्व सरपंच भारत सिंह के कार्यालय के सीसीटीवी फुटेज पेश करते हुए बताया कि 9 जनवरी को सुबह 11 बजकर 13 मिनट पर एक स्कार्पियो से कुछ लोग पूर्व सरपंच भारत सिंह को अपने साथ ले गए. नयाखेड़ा गांव वालों को लगा कि पूर्व सरपंच का अपहरण हो गया. इस पर ग्रामीणों ने पुलिस कंट्रोल रूम में अपहरण का मामला दर्ज करा दिया. इसके बाद जब लोगों ने भारत सिंह के कार्यालय में लगे सीसीटीवी फुटेज देखे तो पता चला कि जिस स्कार्पियो से भारत सिंह को उठाया गया था, वो कोतवाली पुलिस के सब इंस्‍पेक्‍टर गोपाल सिंह गुणावद की थी.

ग्रामीणों के अुनसार जब SI गोपाल सिंह को पता चला कि पूर्व सरपंच के अपहरण की शिकायत कंट्रोल रूम में कर दी गई है तो उन्‍होंने अपने आप को बचाने के लिए गजराज सिंह के साथ मिलकर पूर्व सरपंच के खिलाफ शाम को FIR दर्ज की, जिसमें शाम 7.30 बजे से रात 11 बजे तक उनसे 10 नंबर नाके पर उनके वाहन से डोडाचूरा जब्‍ती की कार्रवाई और उनकी गिरफ्तारी दर्शा दी गई. परिजनों ने एसआई गोपाल सिंह पर 25 लाख रुपए मांगने और न देने के एवज में किसी संगीन जुर्म में फंसा देने की भी धमकी दी थी.
ये भी पढ़ें- ग्रामीणों ने SI पर लगाया फर्जी केस दर्ज करने का आरोप, SP ने किया लाइन अटैच



बता दें कि पूर्व सरपंच भारत सिंह की पिछले दो साल से गजराज सिंह के साथ आपसी रंजिश चल रही है. लोगों को जब पता चला कि पूर्व संरपंच को तस्करी के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है तो उन्‍होंने तत्कालीन एसपी से मिलकर शिकायत की. इस पर एसपी ने एसआई गोपाल सिंह को लाइन अटैच कर दिया था.

एडवोकेट गोविंद सिंह पंवार ने बताया कि इस मामले में जब पुलिस ने उनके मुवक्किल पूर्व सरपंच भारत सिंह को न्यायालय में पेश किया तो न्यायाधीश ने पुलिस और आरोपियों से अलग-अलग बात की तो उन्‍हें पूरा माजरा समझ में आ गया. न्यायालय ने भारत सिंह को पुलिस रिमांड पर देने से मना कर दिया. एडवोकेट गोविंद सिंह पंवार के अनुसार एनडीपीएस एक्ट के विशेष न्यायाधीश ने पुलिस को फटकार भी लगाई और कहा कि ऐसा पाप मत करिए.

ये भी पढ़ें- मंदसौर : लूट की रिपोर्ट लिखने में कोताही बरतने पर टीआई निलंबित
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading