सुवासरा उप चुनाव : भितरघात के आरोप में कांग्रेस के 3 नेता पार्टी से निष्कासित

स्थानीय कांग्रेस नेताओं का कहना है आत्ममंथन की ज़रूरत है.
स्थानीय कांग्रेस नेताओं का कहना है आत्ममंथन की ज़रूरत है.

बताया जा रहा है कि कांग्रेस उम्मीदवार (Congress candidate) राकेश पाटीदार (Rakesh Patidar) भाजपा के पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार के करीबी रिश्तेदार हैं. उन्होंने 2013 और 2018 में राधेश्याम पाटीदार के लिए काम था. उस समय हरदीप सिंह डंग कांग्रेस उम्मीदवार हुआ करते थे.

  • Share this:
मंदसौर. विधानसभा उप चुनाव (By election) में मंदसौर की सुवासरा सीट पर कांग्रेस (congress) की हार होते ही पार्टी की कलह खुलकर सामने आ गयी है. इस सीट पर पार्टी प्रत्याशी राकेश पाटीदार की करारी हार के बाद पार्टी ने 3 कांग्रेस नेताओं को घर का रास्ता दिखा दिया है.

सुवासरा विधानसभा सीट पर पार्टी विरोधी गतिविधि और भितरघात का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने पार्टी के जिला कार्यकारी अध्यक्ष संदीप वर्मा, यूथ कांग्रेस प्रदेश सचिव चेतन चौधरी और यूथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष कर्मवीर सिंह भाटी को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है. मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने निष्कासन का पत्र जारी किया.

निष्कासित नेताओं ने दी सफाई
विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग ने कांग्रेस के राकेश पाटीदार को रिकॉर्ड 28440 मतों से पराजित किया है. जिन कांग्रेस नेताओं को पार्टी के साथ गद्दारी का आरोप लगाते हुए निष्कासित किया गया, उनका कहना है पार्टी ने जल्दबाजी में निर्णय लिया है. पार्टी ने जिन पोलिंग बूथ की हमें जवाबदारी दी थी वहां से पार्टी जीती है. इन नेताओं का यह भी कहना है कि पार्टी ने टिकट ही गलत व्यक्ति को दिया जो कभी पार्टी का हुआ ही नहीं था.
पार्टी का फैसला जल्दबाज़ी में


गद्दारी के आरोप में निकाले गए नेताओं के बारे में स्थानीय कांग्रेस नेताओं का कहना है पार्टी ने ऊपर से निर्णय लिया है. हम उनके निर्णय पर कोई प्रश्न तो खड़ा नहीं करेंगे लेकिन अभी भी आत्ममंथन और चिंतन की आवश्यकता है. जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं लेना चाहिए. फिर भी पार्टी का जो निर्णय है उसे हमें मान्य करना होगा.

भाजपा के करीबी रहे राकेश पाटीदार
बताया जा रहा है कि कांग्रेस उम्मीदवार राकेश पाटीदार भाजपा के पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार के करीबी रिश्तेदार हैं. उन्होंने 2013 और 2018 में राधेश्याम पाटीदार के लिए काम था. उस समय हरदीप सिंह डंग कांग्रेस उम्मीदवार हुआ करते थे. जिन लोगों को पार्टी से निष्कासित किया गया है वह राकेश पाटीदार पर ही सवाल खड़े कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज