• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • रथ-बग्घियों के साथ चल समारोह में नाचते-गाते निकले देशभर के किन्‍नर, देखने उमड़ी भीड़

रथ-बग्घियों के साथ चल समारोह में नाचते-गाते निकले देशभर के किन्‍नर, देखने उमड़ी भीड़

पुलवामा हमले को लेकर किन्नर समुदाय का कहना है कि इस बार आ- पार की लड़ाई होनी चाहिए. पाकिस्तान को सबक सिखाना जरूरी है. जरूरत पड़ी तो हम भी बॉर्डर पर जाने को तैयार हैं.

  • Share this:
मध्यप्रदेश में मंदसौर जिले के पिपलिया मंडी गांव में किन्नरों का महाकुंभ लगा है. देश के अलग-अलग राज्यों से यहां लगभग 275 किन्नर इकट्ठा हुए हैं. यहां पर सात दिवसीय किन्नर सम्मेलन आयोजित किया है. किन्नर सम्मेलन में आए देश भर के किन्नर अपनी एक अलग हैसियत रखते हैं.

दरअसल इस इलाके की रहने वाली किन्नर रानी बुआ का थोड़े दिन पहले निधन हो गया था. इसके बाद उनके उत्तराधिकारी के रुप में किसी नए किन्नर की नियुक्ति करना था. रानी बुआ का के उत्तराधिकारी के रूप में नीलम बाई को नियुक्त किया गया. नीलम बाई के गद्दी नशीन होने की खुशी में किन्नरों ने यहां के प्रसिद्ध टीला खेड़ा बालाजी मंदिर पर चांदी का छत्र चढ़ाया और कलश यात्रा निकाली. कलश यात्रा का नगर सहित आसपास के लोगों ने जोरदार स्वागत किया.

ये भी पढ़ें- MP पुलिस नहीं करती ये 5 बड़ी लापरवाहियां, तो बच सकती थी मासूमों की जान

यह समारोह किसी राजा-महाराजा के समारोह से कम नहीं था. किन्नर सज-धज के बग्गी में सवार थे, तो उनके पास सोने चांदी से लगे गहने भी आकर्षण का केंद्र बने हुए थे. इस चल समारोह को देखने के लिए सड़कों पर हजारों लोग जमा हो गए. किन्नरों ने बैंड बाजों और ढोल की थाप पर आकर्षक नृत्य भी प्रस्तुत किए.

ये भी पढ़ें- जब मंत्री इमरती देवी से आंगनवाड़ी सहायिका ने पलटकर पूछा- और आपकी एजुकेशन क्या है?

साधु-संतों की तरह किन्नरों के भी अपने भक्त होते हैं, जिसमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी धर्मों के लोग शामिल होते हैं. लोगों ने पुष्प वर्षा कर किन्नरों का गर्मजोशी से स्वागत किया. किन्नरों ने अपने भक्तों के मनोरंजन करने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी. किन्नरों ने फिल्मी गानों पर थिरक कर लोगों का भरपूर मनोरंजन किया.

ये भी पढ़ें- सिवनी में चार नाबलिग लड़कियों के अपहरण की कोशिश, आरोपी गिरफ्तार

यही नहीं किन्नरों ने देश की सीमा पर शहीद हुए नौजवानों के लिए भी मोमबत्ती जलाकर प्रार्थना भी की. मंगला मुखी किन्नर समुदाय की प्रमुख अनीता दीदी का कहना है कि हमने देश की सीमा पर डटे हुए हमारे नौजवानों के सलामती की कामना की है. हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से कहना चाहते हैं कि इस बार आ- पार की लड़ाई होनी चाहिए. पाकिस्तान को सबक सिखाना जरूरी है. जरूरत पड़ी तो हम भी बॉर्डर पर जाने को तैयार हैं.

ये भी पढ़ें- सतना अपहरण-हत्याकांड : कांग्रेस ने पूछा-हर भाजपाई अपराधी नहीं, पर हर अपराध में भाजपा क्यों ..

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज