लाइव टीवी

ग्रामीणों ने लगाया नारकोटिक्स टीम पर बिना सर्च वारंट तलाशी, बदसलूकी और मारपीट का आरोप
Mandsaur News in Hindi

Narendra Dhanotiya | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 4, 2019, 4:04 PM IST
ग्रामीणों ने लगाया नारकोटिक्स टीम पर बिना सर्च वारंट तलाशी, बदसलूकी और मारपीट का आरोप
मंदसौर - नारकोटिक्स टीम द्वारा की गई बदसलूकी की शिकायत ग्रामीण उच्च अधिकारियों से करेंगे

मंदसौर के ग्राम लीलदा में बिना पूर्व सूचना और सर्च वारंट के अचानक तलाशी लेने पहुंची नारकोटिक्स विभाग की टीम को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा. आखिरकार ग्रामीणों के बीच में फंसी नारकोटिक्स विभाग की टीम किसी तरह ग्रामीणों से माफी मांग कर बच निकलने में कामयाब हुई.

  • Share this:
मंदसौर के ग्राम लीलदा में बिना पूर्व सूचना और सर्च वारंट के अचानक तलाशी लेने पहुंची नारकोटिक्स विभाग की टीम को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा. आखिरकार ग्रामीणों के बीच में फंसी नारकोटिक्स विभाग की टीम किसी तरह से ग्रामीणों से माफी मांग कर बच निकलने में कामयाब हुई. ग्रामीण इस मामले की शिकायत उच्च अधिकारियों से करने की बात कह रहे हैं. दूसरी तरफ नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी इस मामले में कोई भी प्रतिक्रिया देने से बचते हुए नजर आ रहे हैं.

बता दें कि मंदसौर जिले के नाहरगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम लीलदा से एक वीडियो WhatsApp पर तेजी से वायरल हुआ है. वीडियो में नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी ग्रामीणों से घिरे हुए नजर आ रहे हैं. इस मामले की पड़ताल गांव जाकर जब न्यूज़ 18 ने की तो पता चला कि ग्राम लीलदा में नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी बिना पूर्व सूचना के पहुंचे और मुखिया को साथ लिए बिना ही ग्रामीणों की घर की तलाशी लेनी शुरू कर दी. मामला तब बिगड़ा जब बिना किसी महिला कर्मचारी के विभाग की टीम एक विधवा महिला दुर्गाबाई के घर में तलाशी लेने लगी. ग्रामीणों ने इसका जमकर विरोध किया. यह भी आरोप है कि नारकोटिक्स विभाग के कर्मचारियों ने गांव के अफीम मुखिया सज्जनसिंह के साथ भी मारपीट और बदसलूकी की. इससे भड़के ग्रामीणों ने नारकोटिक्स विभाग की टीम को घेर लिया. पासा पलटता देख नारकोटिक्स विभाग की टीम की सिट्टी-पिट्टी गुम हो गई और किसी तरह से माफी मांग कर ग्रामीणों के चंगुल से निकलने में कामयाब हुए.

ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी अपने हित साधने के लिए जबरन अफीम किसानों पर दबाव बना रहे हैं. ग्रामीणों के अनुसार इस घटनाक्रम का गांव वासियों ने एक पंचनामा भी बनाया, जिस पर नारकोटिक्स विभाग के अधिकारियों ने भी दस्तखत किए. उधर ग्रामीणों के आक्रोश से बच निकलने के बाद मंदसौर पहुंचे अधिकारी इस मामले में कोई भी प्रतिक्रिया देने को तैयार नहीं हैं.



ग्रामीणों का यह भी आक्रोश है कि बिना किसी महिला कर्मचारी के विधवा महिला के घर में तलाशी के लिए नारकोटिक्स विभाग की टीम आखिर क्यों गई. ग्रामीण इस मामले की वित्त मंत्रालय और उच्च अधिकारियों से शिकायत करने की बात कह रहे हैं. उनकी मांग है कि इस मामले में जांच कर दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाए और इस बात को सुनिश्चित किया जाए कि दोबारा इस तरह की हरकत नहीं हो.



ये भी पढ़ें - सबूत मांगने वाले दिग्विजय चुल्लू भर पानी में डूब मरें: कैलाश विजयवर्गीय

ये भी देखें - VIDEO: सीएम ने किया संत सिंगाजी थर्मल पावर प्लांट की दूसरी यूनिट का उद्घाटन

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंदसौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 4, 2019, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading