लाइव टीवी

बड़वानी के इस इलाके में घुसी तेंदुओं की फौज, वन विभाग ने चार को पकड़ा

News18 Madhya Pradesh
Updated: October 4, 2019, 3:38 PM IST
बड़वानी के इस इलाके में घुसी तेंदुओं की फौज, वन विभाग ने चार को पकड़ा
बड़वानी में वन विभाग की टीम के लगाए पिंजरे में फंसा तेंदुआ

महाराष्ट्र सीमा से लगे मध्य प्रदेश के गांवों में पिछले कुछ समय से तेंदुए ( Leopards) देखे जा रहे हैं जिन्हें लेकर वन विभाग (Forest team) की सर्चिंग लगातार जारी है. पिछले 3 माह में तेंदुओं के हमले में 2 लोगों की मौत हो गई जबकि 3 लोगों के घायल होने की सूचना आई थी....

  • Share this:
बड़वानी. वन विभाग की टीम द्वारा लगाए गए पिंजरों में खेतिया क्षेत्र के दो अलग-अलग स्थानों से एक नर व एक मादा तेंदुए को पकड़ा गया है. पिछले 3 माह में वन विभाग ने 4 तेंदुओं को पकड़ने में सफलता पाई है. विभाग के अधिकारियों के मुताबिक़ इनके स्वास्थ्य परीक्षण के बाद इन्हें बड़वाह वन परिक्षेत्र के जंगलों में छोड़ दिया जाएगा. गौरतलब है कि महाराष्ट्र सीमा से लगे मध्य प्रदेश के गांवों में पिछले कुछ समय से तेंदुए देखे जा रहे हैं, जिन्हें लेकर वन विभाग की सर्चिंग लगातार जारी है. मध्य प्रदेश के बड़वानी के खेतिया के पास ग्राम बायगौर और भातकी के आसपास तेंदुए के पगमार्क पाए जा रहे थे, जिसके बाद वन विभाग ने अलर्ट जारी किया है.

ग्रामीणों में दहशत
खेतिया से लगे इलाकों में तेंदुओं के आने के कारण इलाके के ग्रामीणों में भी भय व्याप्त है. इसको देखते हुए ही वन विभाग ने क्षेत्र में ट्रैप कैमरे और पिंजरे लगाए थे. पिछले महीने 23 सितंबर को वन विभाग के ट्रैप कैमरे में तेंदुए की हलचल का वीडियो भी सामने आया था. इसके बाद वन विभाग ने पिंजरा लगाया. शुक्रवार को वन विभाग को तब सफलता मिली जब दो  तेंदुए पकड़े गए. विभाग के मुताबिक गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात पिंजरे में 2 तेंदुए कैद हुए. इन्हें शुक्रवार की सुबह वन विभाग की टीम मेडिकल चेकअप के लिए लेकर गई. वन विभाग के एक पदाधिकारी ने बताया कि खेतिया के ग्राम भातकी में नर और मादा तेंदुए दोनों दो अलग-अलग पिंजरे में कैद हो गए.

तेंदुए के हमले

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सीमा से लगे मध्य प्रदेश के गांवों में पिछले कुछ समय से तेंदुए सक्रिय हैं. स्थानीय ग्रामीणों के मवेशी इन तेंदुओं के हमलों का शिकार हो रहे थे, जिसको लेकर वन विभाग इनकी तलाश में था. विभाग के मुताबकि, खेतिया व पानसेमल क्षेत्र से लगातार तेंदुए पकड़े जा रहे हैं. पिछली बार पकड़ में आया एक तेंदुआ आदमखोर बन गया था. वहीं पिछले 3 माह में तेंदुओं के हमले में 2 लोगों की मौत हो गई, जबकि 3 लोगों के घायल होने की सूचना आई थी. पिछले 3 माह में वन विभाग ने खेतिया क्षेत्र से 4 तेंदुओं को पकड़े जाने में सफलता पाई है.

पकड़े गए तेंदुए को स्वास्थ्य परीक्षण के बाद बड़वाह वन परिक्षेत्र के जंगलों में छोड़ दिया जाएगा. वन विभाग के अधिकारी विजय गुप्ता ने बताया कि महाराष्ट्र में पकड़े जाने वाले तेंदुओं को मध्य प्रदेश के जंगलों में छोड़ दिया जाता है, जिसकी वजह से बड़वानी जिले में तेंदुओं का मूवमेंट बढ़ गया है.

ये भी पढ़ें- शिवना किनारे बसे इस शहर की पुरानी इमारतों में दरार, लोगों में दहशत
Loading...



देश मना रहा था महात्मा गांधी की 150वीं जयंती, लेकिन रीवा से बापू की अस्थियां हुईं चोरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बड़वानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 2:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...