COVID-19 Crisis: अब चंबल ने बढ़ाई सरकार की टेंशन, शिवराज बोले-पूरी ताकत झोंक दें अधिकारी
Morena News in Hindi

COVID-19 Crisis: अब चंबल ने बढ़ाई सरकार की टेंशन, शिवराज बोले-पूरी ताकत झोंक दें अधिकारी
सीएम शिवराज सिंह ने चम्बल में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रफ़्तार को रोकने के लिए अधिकारियों की मीटिंग बुलाई. (फाइल फोटो)

भोपाल और इंदौर के बाद मुरैना में कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या सरकार के लिए चिंता का सबब बन गई है. एक साथ 59 मामले सामने आने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आपातकालीन बैठक कर कोरोना से लड़ने की रणनीति बनाई. जिसके अंतर्गत बड़े पैमाने पर "किल कोरोना" (Kill Corona) अभियान चलाया जाएगा.

  • Share this:
मुरैना. भोपाल और इंदौर के बाद मुरैना में कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या सरकार के लिए चिंता का सबब बन गई है. एक साथ 59 मरीज सामने आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने विशेष रूप से चंबल संभाग (Chambal Division) की कोरोना के मुद्दे पर समीक्षा की. सीएम ने चंबल क्षेत्र में कोरोना पर काबू करने के लिए जिला कलेक्टरों सहित प्रभारी अधिकारियों से सजग रहकर समस्या बढ़ने के पहले ही नियंत्रण के प्रयास करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने मुरैना जिले में कोरोना (covid-19) संक्रमण की समीक्षा करते हुए कहा कि एहतियातन लगाए गए कर्फ्यू को फिलहाल जारी रखा जाए. मुरैना जिले के प्रभारी अधिकारी प्रमुख सचिव मलय श्रीवास्तव को उन्होंने स्थिति पर नजर रखने को कहा है. साथ ही प्रदेश में बड़े स्तर पर किल कोरोना अभियान (Kill Corona) का भी शुभारंभ किया जाएगा.

एमपी में रिकवरी रेट 76.5% 
आपको बता दें कि सोमवार को मुरैना में एक साथ 59 लोग कोरोना पॉजीटिव (Corona positive) पाए गए थे. हालांकि ऐसी खबरों के बीच कोरोना को लेकर कुछ राहत भरी खबर भी सामने आ रही है. आंकड़ों की माने तो मध्यप्रदेश कोरोना के नियंत्रण में अन्य प्रदेशों से बेहतर स्थिति में है. प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या का ग्रोथ रेट 1.46 प्रतिशत है जो देश के औसत ग्रोथ रेट से 3.68 से आधे से भी काफी कम है. प्रदेश का रिकवरी रेट 76.5 प्रतिशत है जबकि इससे ऊपर केवल राजस्थान में 77.1% रिकवरी रेट है.

ये भी पढ़ें- MP गवर्नर लालजी टंडन क्रिटिकल केयर वेंटीलेटर पर, मेदांता हॉस्पिटल ने जारी किया हेल्‍थ बुलेटिन






"Kill Corona" अभियान से होगा प्रहार
एमपी में बीते 24 घंटे में 9855 टेस्ट किए गए हैं और इनमें केवल 223 पॉजिटिव केस मिले हैं. प्रदेश में मेडीकल कॉलेज में भी रिकवरी रेट काफी बेहतर हुआ है. जबलपुर, इन्दौर, रतलाम, खंडवा मेडीकल कॉलेज सहित भोपाल के चिरायु मेडीकल कॉलेज में रिकवरी रेट 80 प्रतिशत से अधिक बताया गया है. प्रदेश सरकार एक जुलाई से "किल कोरोना" (Kill Corona) अभियान भी शुरू करने जा रही है जिसमें घर-घर जाकर सर्वे का काम किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading