झोपड़े में आग लगाकर कूदी महिला, इलाज के तीसरे दिन मौत

मुरैना के पोरसा इलाके में बीते 18 जून को अतिक्रमण हटाने गई प्रशासनिक टीम के खिलाफ अपने ही झोपड़े में आग लगाकर कूदी महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई.

Dushyant Sikarwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 21, 2019, 1:09 PM IST
झोपड़े में आग लगाकर कूदी महिला, इलाज के तीसरे दिन मौत
झोपड़े में आग लगाकर कूदी महिला, इलाज के तीसरे दिन मौत
Dushyant Sikarwar | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 21, 2019, 1:09 PM IST
मध्य प्रदेश के मुरैना पोरसा इलाके में बीते 18 जून को अतिक्रमण हटाने गई प्रशासनिक टीम के खिलाफ अपने ही झोपड़े में आग लगाकर कूदी महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई. इलाज के तीसरे शुक्रवार को राजाबेटी ने ग्वालियर अस्पताल में दम तोड़ दिया. बता दें कि बीते 18 जून को घटना से आक्रोशित लोगों ने पोरसा इलाके में जाम लगा दिया था. साथ ही प्रशासनिक वाहनों की तोड़फोड़ कर जमकर पथराव किया था.

झोपड़े में आग लगाकर कूद गई थी महिला

बता दें कि पोरसा के नागाजी धाम की भूमि में अतिक्रमण कर रह रही राजाबेटी जाटव को हटाने जब प्रशासनिक टीम पहुंची तो आक्रोशित राजाबेटी ने खुद के झोपड़े में आग लगा ली और उसमें कूद गई. प्रशासनिक टीम महिला तहसीलदार भूमिजा सक्सेना के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाने पहुंची थी.

उचित कार्रवाई का आश्वासन

महिला तहसीलदार और अन्य लोगों ने उसे उस समय रहते तो बचा लिया, लेकिन शुक्रवार को उसकी मौत हो गई. वहीं कलेक्टर ने घटना के बाद उचित इलाज कराने, 50 हजार नकद रुपए देने और आवास देने की बात कही थी, लेकिन सवाल आज भी वही है. जब गरीब भूमिहीन है तो उसे आवास पहले क्यों नहीं दिया गया, क्यों मृतिका को अपनी जान गंवानी पड़ी.

इधर, मामले में कलेक्टर प्रियंका दास ने जांच के बाद उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

ये भी पढ़ें:- MP: राजभवन में बनेगा ओपन जिम, राज्यपाल ने दिया ये संदेश 
Loading...

ये भी पढ़ें:- जब समिति की बैठक में गंदा पानी लेकर पहुंचे कांग्रेस नेता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुरैना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2019, 1:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...