Assembly Banner 2021

एग्‍जाम से बचने के लिए छात्र की करतूत, भतीजे का अपहरण कर चिट्ठी में लिखी ये बात

पुलिस मामले की जांच कर रही है.. (प्रतीकात्मक फोटो)

पुलिस मामले की जांच कर रही है.. (प्रतीकात्मक फोटो)

आरोपी युवक ने मौके पर एक चिट्ठी (Letter) भी छोड़ दी थी, जिस पर लिखा था यदि आप बच्चे को जिंदा चाहते हैं तो रणवीर (आरोपी) की पढ़ाई छुड़वा दें.

  • Share this:
मुरैना. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुरैना (Morena) जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां 12वीं के एक छात्र ने परीक्षा देने से बचने के लिए अपने चचेरे भाई के तीन साल के बेटे का अपहरण (Kidnapping) कर लिया. आरोपी का कहना है कि है कि उसने वारदात को अंजाम इसलिए दिया ताकि घर वाले बच्चे को ढूंढने में लग जाएंगे. ऐसे में चाचा होने के नाते वह भी घर वालों के साथ बच्चे को ढूंढने में व्यस्त रहेगा. इस बहाने सोमवार को होने वाला पेपर उसे नहीं देना पड़ेगा. खास बात यह है कि आरोपी युवक ने मौके पर एक चिट्ठी भी छोड़ दी थी.

जानकारी के मुताबिक, मामला जौरा तहसील के पिपरौआ का है. पुरा निवासी नेमीचंद पुत्र सुखपाल कुशवाह रविवार को अपनी पत्नी सपना, बेटे बॉबी (5) व आशिक उर्फ भूकन (3) के साथ टुड़ीला में भानजे के फलदान में गया था. रात 8.30 बजे नेमी व सपना गांव के ही रिश्तेदार के यहां दोनों बच्चों को खटिया पर सुलाकर खाना खाने चले गए. जब दोनों लौटे तो छोटा बेटा आशिक गायब था. तलाश करने के बाद जब बच्चा नहीं मिला तो जौरा पुलिस में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस को चारपाई से एक चिट्‌ठी मिली. जिस पर लिखा था कि यदि आप बच्चे को जिंदा चाहते हैं तो रणवीर (आरोपी) की पढ़ाई छुड़वा दें. यदि पुलिस से शिकायत की तो आशिक को मौत के घाट उतार दिया जाएगा.

मासूम को रस्सियों से बंधकर खेत में रखा था
दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, जब पुलिस ने संदेह के आधार पर 19 वर्षीय रणवीर से पूछताछ की तो उसने आशिक के अपहरण की बात स्वीकार कर ली. उसने एक-एक कर सारा राज उगल दिया. आरोपी के निशानदेही पर पुलिस ने बच्चे को सकुशल बराम कर लिया. आरोपी  मासूम को रस्सियों से बंध कर एक खेत में रखा था. वहीं, एसपी डॉ. असित यादव ने कहा कि आराेपी रणवीर दसवीं में भी तीन बार फेल हाे चुका है. दाे साल पहले दसवीं की परीक्षा के दाैरान भी वह घर से गायब हाे गया था.
ये भी पढ़ें- 



जयपुर: इटली से लौटे यात्री की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, अब दोबारा होगी जांच



भीम आर्मी के राजनीति में उतरने के ऐलान से मची खलबली, इस पार्टी को होगा नुकसान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज