Assembly Banner 2021

BJP ने फूंका चुनावी बिगुल : भिंड-मुरैना में विकास कार्यों की बरसात, साथ दिखे सिंधिया और तोमर

चुनाव प्रचार के मैदान में शिवराज-तोमर और सिंधिया साथ थे.

चुनाव प्रचार के मैदान में शिवराज-तोमर और सिंधिया साथ थे.

नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra singh Tomar) ने कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya scindia) ने कांग्रेस को अब तिलांजलि दे दी है.अब उन्होंने अटल बिहारीजी का कमल थाम लिया है.आज ज्योतिरादित्य सिंधिया के उचित निर्णय के कारण फिर शिवराज चौथी बार मुख्यमंत्री हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 6:58 PM IST
  • Share this:
मुरैना/भिंड. बीजेपी ने मध्य प्रदेश (MP) की 27 सीटों के लिए होने जा रहे उपचुनाव (By Election) के लिए ग्वालियर-चंबल में प्रचार का बिगुल बजा दिया. आज सीएम शिवराज (CM), केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और सिंधिया ने मुरैना और भिंड का धुआंधार दौरा किया. चुनाव की तारीख के ऐलान से पहले विकास और निर्माण कार्यों का ताबड़तोड़ तरीके से लोकार्पण और शिलान्यास किया गया.

म प्र में 27 सीटों पर बीजेपी ने उपचुनाव के प्रचार का शंखनाद आज मुरैना ज़िले के दिमनी और पोरसा से कर दिया. सबके निशाने पर पूर्व की कमलनाथ सरकार और कांग्रेस थी. पोरसा में सीएम शिवराज सिंह ने जम कर कमलनाथ सरकार को कोसा. सीएम ने कहा जनकल्याणकारी योजनाओं को कमलनाथ ने बंद कर दिया. वचन पत्र में किए वादे नहीं निभाए.सिंधिया जी के निर्णय ने उन्हें सड़क पर ला दिया. अभी तक नरेंद्र सिंह तोमर और स्वयं शिवराज एक और एक दो हुआ करते थे लेकिन अब तीन हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित तीन नहीं बल्कि एक सौ ग्यारह हो गए हैं. दिमनी विधान सभा क्षेत्र में सीएम ने 89 करोड़ लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया.

सिंधिया ने की तोमर की तारीफ
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा चंबल एक्सप्रेस वे चंबल में विकास का नया आयाम लिखेगा. वह केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की देन है. उन्होंने कहा-आज अम्बाह पोरसा की भूमि से नया आगाज है. कांग्रेस में रहते हुए 15 महीने पहले यह सोच थी कि शिवराज सिंह के विकास को पीछे छोड़कर हम विकास की नयी लकीर खींचेंगे. कांग्रेस ने शपथ पत्र में कहा था कि किसान ऋण माफी सिर्फ दस दिन में होगी पर नहीं हुई. अन्नदाता के सीने पर कुल्हाड़ी मारी गयी तो ज्योतिरादित्य सिंधिया सड़कों पर आ गया. सिंधिया ने कमलनाथ सरकार के मुख्यमंत्री कन्यादान की राशि 51 हजार करने पर निशाना साधा. कहा-राशि बढ़ाई पर पैसा किसी को नहीं मिला.युवाओं को रोज़गार नहीं मिला.डॉ गोविंद सिंह पर निशाना साधते हुए कहा-सरकार का कैबिनेट मंत्री अवैध उत्खनन न रोकने पर विवश था. ऐसी सरकार को सत्ता में रहने का हक नहीं था.सिंधिया ने शिवराज की तारीफ में कसीदे पढ़े. उन्होंने कहा-शिवराज जब भी आए हैं, कुछ ना कुछ लेकर ही आए हैं.सिंधिया ने तोमर की तारीफ करने में भी कसर नहीं छोड़ी बोले,नरेंद्र सिंह और मैं जब पक्ष व विपक्ष में थे तब भी मिलकर कार्य किया. उन्होंने केंद्र में बिजली मंत्री रहते हुए पोरसा के लिए बिजली योजना भेजी.पोरसा को 50 और अंबाह को 100 बेड का अस्पताल दिया. सिंधिया ने
नाम ऐलान से पहले ही भाजपा उम्मीदवार कमलेश जाटव को जिताने की अपील भी कर दी .



सिंधिया ने दिया शिवराज को मौका
नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस को अब तिलांजलि दे दी है.अब उन्होंने अटल बिहारीजी का कमल थाम लिया है. कमलनाथ सरकार में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के दौरान मदद नहीं हुई. मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना बंद कर दी गयी. आज ज्योतिरादित्य सिंधिया के उचित निर्णय के कारण फिर शिवराज चौथी बार मुख्यमंत्री हैं.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिखाए काले झंडे
मुरैना आने पर कांग्रेसियों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को काले झंडे दिखाए. इन लोगों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया वापस जाओ के नारे भी लगाए. लेकिन कार्यक्रम से पहले ही पुलिस ने इन लोगों को रोक लिया और कार्यक्रम स्थल से पहले ही गिरफ्तार कर लिया.

किसान की ज़मीन पर पंडाल
मुरैना के दिमनी में सीएम शिवराज सिंह की सभा के लिए एक किसान के खेत में पंडाल लगा दिया गया. इससे नाराज़ किसान रामकिशोर सिंह तोमर ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए. उसका कहना है कि उससे पूछे बिना उसके खेत में सबा स्थल बना दिया गया. किसान का कहना है उसने सरसों की खेती के लिए हाल ही में खेत जुतवाया था. आपत्ति जताने पर पुलिस से झूठे केस लगवाने की धमकी दी.



पट्टिका पर तोमर का नाम नहीं
मुरैना के बाद बीजेपी नेता भिंड के मेहगांव पहुंचे. यहां लोकार्पण और शिलान्यास पट्टिकाओं पर नरेंद्र सिंह तोमर का नाम नहीं था. इस पर आयोजक बोले बीते रोज अंतिम समय पर तोमर का नाम जुड़ा, इसलिए पट्टिकाओं पर उनका नाम नहीं लिखा जा सका. (मुरैना से दुष्यंत सिकरवार )
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज