मुरैना ज़हरीली शराब कांड में मृतकों की संख्या 12 हुई, CM शिवराज ने कहा-दोषी बख्शे नहीं जाएंगे

चंबल IG मनोज शर्मा ने कहा-शराब जहरीली थी या नहीं यह पीएम रिपोर्ट से ही स्पष्ट होगा.

CM शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने घटना पर अफसोस ज़ाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट किया कि घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदाई है. मैंने जांच के निर्देश दिए हैं. एक टीम बनाई गई है जो जांच कर रही है.जांच के तथ्य अभी आने हैं लेकिन इतना पक्का है कि दोषी छोड़े नहीं जाएंगे. हम कठोर कार्रवाई करेंगे. मैं तथ्यों की प्रतीक्षा कर रहा हूं.

  • Share this:
मुरैना.मुरैना (Morena) जिले में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत के बाद लोगों में गुस्सा और गम है. 6 की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है जो मुरैना और ग्वालियर के अस्पतालों में जिंदगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ रहे हैं. पुलिस ने बयान के आधार पर चार लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है. शवों के पीएम के दौरान आक्रोशित मृतकों के परिवारवालों ने हंगामा किया और प्रशासन पर अवैध शराब कारोबारियों से सांठ गांठ का आरोप लगाया.बाद में छेरा गांव के सामने जौरा रोड पर शव रखकर ट्रैफिक जाम कर दिया.

बागचीनी थाने के छेरा मानपुर गांव में शराब पीने से 7, बिलैया पुरा गांव में 1 और सुमावली थाने के पहावली गांव में 3 सहित कुल 12 लोग ज़हरीली शराब पीने से मारे गए. ग्रामीणों का आरोप है कि स्थानीय पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग की मिलीभगत के कारण छेरा मानपुर इलाके में अवैध शराब की कालाबाजारी और जुए के बड़े बड़े फड़ लगाए जा रहे हैं. इलाके के युवा और आम लोग इसके चक्कर में पड़ गए हैं. ग्रामीण इसकी शिकायत प्रशासनिक अधिकारी से लेकर सीएम शिवराज तक कर चुके हैं. लेकिन राजनीतिक संरक्षण और प्रशासनिक सांठ गांठ के कारण दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती. यही कारण है कि इलाके में बड़ी घटना घट गई.



CM शिवराज ने अफसोस जताया
CM शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने घटना पर अफसोस ज़ाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट किया कि घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदाई है. मैंने जांच के निर्देश दिए हैं. एक टीम बनाई गई है जो जांच कर रही है.जांच के तथ्य अभी आने हैं लेकिन इतना पक्का है कि दोषी छोड़े नहीं जाएंगे. हम कठोर कार्रवाई करेंगे. मैं तथ्यों की प्रतीक्षा कर रहा हूं.



लाश रखकर रास्ता रोका
इस हादसे से मृतकों के परिवार वाले गहरे सदमे और गुस्से में हैं. पीड़ितों के परिवार ने लाश सड़क पर रखकर चक्का जाम कर दिया. ये लोग मृतकों के परिवार के सदस्यों को सरकारी नौकरी, 20 लाख की आर्थिक मदद की मांग कर रहे थे. अधिकारियों के आश्वासन के बाद इन लोगों ने जाम ख़त्म किया. फिलहाल रेडक्रॉस से मृतकों के परिवार को दस दस हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी गयी.

आरोपियों पर कार्रवाई
चंबल IG मनोज शर्मा मुरैना मुख्यालय पहुंचे.उन्होंने कहा शराब जहरीली थी या नहीं यह पीएम रिपोर्ट से ही स्पष्ट होगा. गंभीर घायलों के बयान के आधार पर चार लोगों को चिन्हित किया गया है. उन पर कार्रवाई की जा रही है.जांच होने तक आस- पास के इलाके की शराब दुकान बंद करने के निर्देश दिए गए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.