Assembly Banner 2021

'लूसी' की सुरक्षा में तैनात रहे तीन गार्ड, जानिए क्या है वजह

आमतौर पर इंसान डॉगी को घर की रखवाली के लिए पालता है लेकिन यहां 'लूसी' नाम की डॉगी की पहरेदारी के लिए तीन-तीन गार्ड लगाए गए हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के मुरैना में एक डॉग की चर्चा लोगों की ज़ुबान पर रही. जानकर हैरानी होगी कि इस डॉग की हिफाज़त के लिए तीन गार्ड तैनात किए गए थे.  आमतौर पर इंसान डॉग को घर की रखवाली और सुरक्षा के लिए पालता है लेकिन यहां 'लूसी' नाम की डॉगी की पहरेदारी के लिए तीन गार्ड लगाए गए,. क्योंकि ये डॉगी किसी आम आदमी का नहीं बल्कि जिले की कलेक्टर साहिबा की है.

जिस सूबे में आम लोगों की सुरक्षा सरकारी सिस्टम के लिए मुश्किल हो, वहां एक डॉगी की देखभाल के खातिर तीन-तीन गार्डों की तैनाती के बारे में सोचना बेमानी लगता है. ये तभी सोचा जा सकता है जब डॉगी बेहद खतरनाक हो या फिर बेहद खास. कलेक्टर साहिबा के बेहद करीब होने के नाते 'लूसी' खास ही तो है.

दरअसल कलेक्टर साहिबा का नया-नया यहां तबादला हुआ है. बंगला मिला नहीं इसलिए वो घड़ियाल सेंटर के रेस्ट हाउस में थीं. लूसी उनके साथ आयी थी.  अब इस वजह से  ‘लूसी’ की खातिर वन विभाग के ट्रेंड डॉगी ‘शेरा’ को कमरे में नजरबंद कर दिया गया.



ये वही शेरा है जो बीएसएफ से खास ट्रेंड है और घड़ियाल सेंटर में सुरक्षा के लिहाज से तैनात किया गया है. लेकिन सेंटर की सुरक्षा को ताक पर रखते हुए शेरा को नजरबंद कर दिया गया और ‘लूसी’ की सुरक्षा में तीन गार्ड तैनात कर दिए गए.
ये भी पढ़ें- क्योंकि जनता को दागी पसंद हैं... आपराधिक पृष्टभूमि वाले 55 नेता बने विधायक

ये भी पढ़ें- निवेश की नई संभावनाओं के साथ वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम से वापस लौटे सीएम कमलनाथ

ये भी पढ़ें- 89 बरस के बीजेपी लीडर बाबूलाल गौर बोले : अभी तो लड़की देख रहे हैं, फिर 'शादी' करेंगे...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज