उपचुनाव से पहले MP में कांग्रेस को फिर लगा झटका, MLA नारायण पटेल ने दिया इस्तीफा
Bhopal News in Hindi

उपचुनाव से पहले MP में कांग्रेस को फिर लगा झटका, MLA नारायण पटेल ने दिया इस्तीफा
प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने नारायण पटेल का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

MP By-Election Update: मंधाता से कांग्रेस विधायक नारायण पटेल (Narayan Patel) ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. नारायण पटेल ने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को अपना इस्तीफा (Resignation) सौंपा.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में उपचुनाव (Madhya Pradesh By-Election) को लेकर राजनीतिक उथल पुथल जारी है. एमपी कांग्रेस में इस्तीफे का दौर भी थम नहीं रहा है. इसी कड़ी में एमपी कांग्रेस (Congress) को एक और तगड़ा झटका लगा है. मंधाता से कांग्रेस विधायक नारायण पटेल (Narayan Patel) ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. नारायण पटेल ने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को अपना इस्तीफा सौंपा. प्रोटेम स्पीकर ने उनका त्याग पत्र स्वीकार भी कर लिया है. इधर, गुना के बीजेपी नेता और पूर्व राज्यमंत्री केएल अग्रवाल आज अपने 400 समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए. पूर्व सीएम और पीसीसी चीफ कमलनाथ की मौजूदगी में उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ली.

नारायण पटेल के इस्तीफे पर अब सियासत भी शुरू हो गई है. खंडवा से कांग्रेस विधायक के दल बदल पर पूर्व मंत्री सचिन यादव ने कहा कि बीजेपी दबाव और प्रलोभन के जरिए विधायकों को खरीद रही है. विधायकों की खरीद-फरोख्त को उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भी नारायण पटेल शामिल हुए थे. पार्टी में रहने का भरोसा भी दिलाया था. लेकिन अब बीजेपी नेताओं के दबाव में आकर इस्तीफा दे दिया है.

ये भी पढ़ें:- COVID-19 Update: झारखंड विधानसभा 31 जुलाई तक सील, MLA और स्टाफ कोरोना संक्रमित



सोशल मीडिया पर बनाया सस्पेंस
इधर, कांग्रेस छोड़ने की खबरों के बीच नारायण पटेल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखा था. पोस्ट में 'कृपया अफवाहों से बचें' लिखा था. बताया जाता है कि नारायण पटेल की बुधवार को कांग्रेस नेता अरुण यादव से भी फोन पर चर्चा हुई थी. फिर आज कांग्रेस विधायक ने अपना इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि 5000 वोटों से जीत हासिल कर नारायण पटेल विधानसभा पहुंचे थे. माना जाता है कि कांग्रेस नेता अरुण यादव की वजह से उन्हें टिकट मिली थी.

एएनआई का ट्वीट



चुनाव की तारीखों पर मंथन
बता दें कि कोरोना की वजह से मध्य प्रदेश सहित देश के कई राज्यों की विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में देरी हो रही है. इस बीच निर्वाचन आयोग शुक्रवार को राज्यों में लंबित उपचुनावों को लेकर बैठक करने वाला है. इस बैठक में मध्य प्रदेश की खाली पड़ी 25 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराने को लेकर भी चर्चा की जाएगी. निर्वाचन आयोग की बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि मौजूदा माहौल में उपचुनाव कराए जा सकते हैं या नहीं. मालूम हो कि मध्य प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटों में से आज की तारीख में 26 सीटें खाली हैं. दो सीटें जहां विधायकों के निधन की वजह से खाली हैं, वहीं 22 सीटों के विधायकों ने इस्तीफा दिया है. ये 22 विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हैं, जिन्होंने कमलनाथ सरकार से अपना समर्थन वापस लेते हुए इस्तीफा दिया था. इसके अलावा बीते कुछ दिनों में कांग्रेस के 2 और विधायकों ने पार्टी छोड़ते हुए BJP ज्वाइन की है, जिसकी वजह से उनकी सीटें भी खाली हो गई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज