MP: सरकार बनते ही कांग्रेस भूली लैब टेक्‍नीशियन्‍स से किया वादा, एसोसिएशन ने दी आंदोलन की चेतावनी
Bhopal News in Hindi

MP: सरकार बनते ही कांग्रेस भूली लैब टेक्‍नीशियन्‍स से किया वादा, एसोसिएशन ने दी आंदोलन की चेतावनी
एक वर्ष का समय पूरा होने के बावजूद सरकार अपने वादे को पूरा करने में आनाकानी दिखा रही है.

मेडिकल लैब टेक्‍नीशियन्‍स  एसोसिएशन (Medical Lab Technicians Association) के अनुसार, चुनाव से पूर्व कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में यह वादा किया था कि निजी पैथालॉजी लैब टेक्‍नीशियन्‍स  को सत्‍यापन का अधिकार दिया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल (Bhopal) : मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सरकार बनने के बाद कमलनाथ सरकार अपने चुनावी वचन पत्र को भूल गई है. यह आरोप मध्‍य प्रदेश की लैब टेक्‍नीशियन्‍स एसोसिएशन (Madhya Pradesh Medical Lab Technicians Association) ने कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) पर लगाया है. एसोसिएशन का आरोप है कि चुनाव (Election) से पूर्व कांग्रेस (Congress) ने अपने वचन पत्र में यह वादा किया था कि निजी पैथालॉजी लैब (Pathology Lab) टेक्‍नीशियन्‍स  को सत्‍यापन का अधिकार (Authority of Verification) दिया जाएगा. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कमलनाथ की सरकार को बने हुए एक वर्ष का समय हो चुका है, लेकिन सूबे की कांग्रेस सरकार ने अपना यह वादा पूरा नहीं किया है. यह सब तब है जब एसोसिएशन के तमाम पदाधिकारी सूबे के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री (Health Minister) और मुख्‍यमंत्री (Chief Minister) से मिलकर उनको उनका वादा कई बार याद दिला चुके हैं.

इसी विषय पर गुरुवार को भोपाल के होटल रंजीत लेक व्‍यू में मेडिकल लैब टेक्‍नीशियन्‍स  एसोसिएशन द्वारा कांग्रेस के वचन पत्र को लेकर एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया. प्रेस वार्ता में एसोसिएशन के अध्‍यक्ष विनीत दुबे ने बताया कि विधान सभा चुनाव 2018 के समय कांग्रेस ने अपने वचन पत्र के विंदु क्रमांक 19.47 में वचन दिया था कि निजी क्षेत्र की सामान्‍य पैथोलॉजिकल जांच को सत्‍यापित करने का अधिकार लैब टेक्‍नीशियन्‍स  को दिया जाएगा. कांग्रेस सरकार का एक वर्ष पूरा होने के बाद भी कांग्रेस सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया है. विनीत दुबे के अनुसार, इस वादे को पूरा करने में मध्‍य प्रदेश सरकार पर किसी तरह का वित्‍तीय खर्च नहीं आने वाला है, बावजूद इसके सरकार उनकी मांगों पर ध्‍यान नहीं दे रही है.

विनीत दुबे का कहना है कि सरकार खुद आशा एवं आंगनबाड़ी कर्मचारियों द्वारा कुछ सामान्‍य जांचें करवाती है, जबकि हम डिग्री धारी लोगों को इन जांचों के प्रमाणीकरण के लिए अवैध मानती है. एसोसिएशन के सचिव संजय श्रीवास्‍तव का कहना है कि एक ओर तो मुख्‍यमंत्री युवाओं के लिए अनेक योजनाएं ला रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ हर साल लगभग पांच से छह हजार युवा मेडिकल लैब टेक्‍नालॉजी का प्रशिक्षण लेकर निकल रहे हैं, जिनके रोजगार के लिए सरकार की कोई पॉलिसी नहीं है. सरकार के वचन पत्र को पूरा नही करने को लेकर मध्‍य प्रदेश के सभी लैब टेक्‍नीशियन्‍स  में रोष व्‍याप्‍त है.



अब, एसोसिएशन ने मध्‍य प्रदेश सरकार को चेतावनी दी है कि एक माह के अंदर सरकार अपना वचन पूरा नहीं करती है, तो फरवरी के प्रथम सप्‍ताह में संपूर्ण मध्‍य प्रदेश के पैथालॉजी टैक्निशियन भोपाल में धरना प्रदर्शन करेंगे.
यह भी पढ़ें:

CAA पर बोले दिग्विजय सिंह- जिसे ईडी, CBI और इनकम टैक्स का डर, वो कानून का विरोध नहीं करेगा
प्रदर्शन पर निकले BJYM कार्यकर्ताओं पर कहीं पड़ी पानी की बौछार, कहीं आंसू गैस के गोले
शिवराज सिंह ने कमलनाथ सरकार के ख़िलाफ फिर की अमर्यादित टिप्पणी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज