लाइव टीवी

गरीबों के आशियाने उजाड़ रहे निगम अफसरों पर बिगड़े मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, कही ये बात

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 15, 2020, 4:39 PM IST
गरीबों के आशियाने उजाड़ रहे निगम अफसरों पर बिगड़े मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, कही ये बात
ग्वालियर नगर निगम ने गरीबों की झोपड़ियों को गिरा दिया

ग्वालियर नगर निगम (Gwalior Nagar Nigam) ने मकर संक्रांति के दिन गरीबों की झोपड़ियां उजाड़ दीं. खबर लगी तो केबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh tomar) मौके पर पहुंचे. निगम अमले को फटकार लगाई और फिर मौके पर ही कलेक्टर, कमिश्नर को बुलाकर गरीबों के आशियाने बनवाने की कवायद शुरु कराई

  • Share this:
ग्वालियर. मध्य प्रदेश के ग्वालियर (Gwalior) ज़िले में एंटी माफिया सेल और नगर निगम माफिया के खिलाफ अभियान चला रहे हैं, लेकिन मकर संक्रांति की सुबह निगम अमले ने तानसेन रोड पर बनी कुछ झोपड़ियों को गिरा दिया. दरअसल लोहे का सामान बनाकर अपना पेट पालने वाले ये लोग वर्षों से यहां झोपड़े बना रह रहे थे, करीब 50 से ज्यादा परिवार इस जगह पर निवास कर रहे थे.

सूचना मिलते ही पहुंचे मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर
बुधवार सुबह नगर निगम की मदाखलत की टीम यहां पहुंची और इन गरीबों के झोपड़े तोड़ दिए. इस दौरान लोगों ने प्रशासन से मिन्नतें कीं, लेकिन किसी ने उनकी एक नहीं सुनी और देखते ही देखते जो झोपड़ियां धराशायी कर दीं. आसपास मौजूद लोगों ने इस मामले की खबर मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर तक पहुंचाई. खबर मिलते ही मंत्री तोमर खुद मौके पर गए

मंत्री ने मौके पर ही कराया विस्थापन का इंतजाम

मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस घटना को लेकर निगम अमले पर नाराजगी जताई. झोपड़ी तोड़ने वाले कर्मचारियों और मौके पर मौजूद अधिकारियों को फटकार लगाई. नाराज प्रद्युम्न सिंह तोमर ने तत्काल मौके पर कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर को बुलाया और एक बैठक कर इन सभी गरीबों को मकान उपलब्ध कराने की हिदायत दी.

प्रशासन से दिलाया आश्वासन
कलेक्टर, नगर निगम कमिश्नर, एसपी सभी ने बैठकर मौके पर ही इन गरीबों को नई जगह जमीन के पट्टे देने और मकान बनाने का आश्वासन दिया. साथ ही उनके वैकल्पिक विस्थापन की व्यवस्था भी की तब कहीं जाकर मंत्री संतुष्ट हुए. इस दौरान मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य है कि गरीबों को किसी तरह से सताए नहीं जाएगा लेकिन भू माफियाओं को भी बख्शा नहीं जाएगा.विस्थापन का दर्द बयान किया
तानसेन रोड़ पर झोपड़ी टूटने से दूखी राजू फिरंगी ने बताया कि वो बीते 10 सालों से तानसेन रोड़ के किनारे ही रहते थे. उन लोगों का आधार कार्ड, राशन कार्ड, वोटर कार्ड भी है. राजू के मुताबिक उनकी बिरादरी के लोग यहां झोपड़ी में ही लोहे का सामान बनाते हैं और बेचकर अपने परिवार पालते हैं. आज त्यौहार के दिन सुबह के वक्त निगम अमला आया और मिन्नतें करने के बाद भी झोंपड़ियां तोड़ दी. लेकिन जब मंत्री तोमरजी को पता चला तो वो खुद आ गए. हमारी झोपड़ियों के लिए अब दूसरी जगह मकान बनाने का आश्वासन दिया है, नुकसान के लिए 50 हजार रुपए भी दिलाए हैं.

ये भी पढ़ें -
सेना दिवस : शहादत के बाद पत्नी के पास पहुंचा शहीद सूबेदार नरेन्द्र सिंह राणा का ख़त...
मध्‍य प्रदेश: गृहमंत्री अमित शाह के फर्ज़ी PA ने किए कई ख़ुलासे, पत्‍नी को दिलवाया था टेंडर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 4:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर