लाइव टीवी

सरपंच का चुनाव हारने पर प्रत्याशी ने खाए बैलेट पेपर
Narsinghpur-Madhya-Pradesh News in Hindi

Ashish Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 23, 2015, 10:53 PM IST
सरपंच का चुनाव हारने पर प्रत्याशी ने खाए बैलेट पेपर
नरसिंहपुर में एक गांव के सरपंच पद के चुनाव में छह वोट से हार रहे प्रत्याशी ने मतगणना के दौरान मतगणना अधिकारी से ही हार के अंतर वाली छह वोट वाले बेलेट पेपर छीनकर निगल लिए और दौड़ लगा दी। अब जीता हुआ प्रत्याशी पुलिस की दहलीज पर आस लगाए बैठा है जबकि पुलिस वोट खाकर भागे प्रत्याशी की तलाश में जुट गई है। मामला नरसिंहपुर के देवाकछार ग्राम पंचायत का है, जहां सरपंच पद के लिये कुल दो उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। एक का नाम रेवाराम पटेल और दूसरे का छत्रपाल सिंह है। दोनों के बीच कांटे का मुकाबला था।

नरसिंहपुर में एक गांव के सरपंच पद के चुनाव में छह वोट से हार रहे प्रत्याशी ने मतगणना के दौरान मतगणना अधिकारी से ही हार के अंतर वाली छह वोट वाले बेलेट पेपर छीनकर निगल लिए और दौड़ लगा दी। अब जीता हुआ प्रत्याशी पुलिस की दहलीज पर आस लगाए बैठा है जबकि पुलिस वोट खाकर भागे प्रत्याशी की तलाश में जुट गई है। मामला नरसिंहपुर के देवाकछार ग्राम पंचायत का है, जहां सरपंच पद के लिये कुल दो उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। एक का नाम रेवाराम पटेल और दूसरे का छत्रपाल सिंह है। दोनों के बीच कांटे का मुकाबला था।

  • Share this:
नरसिंहपुर में एक गांव के सरपंच पद के चुनाव में छह वोट से हार रहे प्रत्याशी ने मतगणना के दौरान मतगणना अधिकारी से ही हार के अंतर वाली छह वोट वाले बेलेट पेपर छीनकर निगल लिए और दौड़ लगा दी। अब जीता हुआ प्रत्याशी पुलिस की दहलीज पर आस लगाए बैठा है जबकि पुलिस वोट खाकर भागे प्रत्याशी की तलाश में जुट गई है। मामला नरसिंहपुर के देवाकछार ग्राम पंचायत का है, जहां सरपंच पद के लिये कुल दो उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। एक का नाम रेवाराम पटेल और दूसरे का छत्रपाल सिंह है। दोनों के बीच कांटे का मुकाबला था।

गांव की कुल 720 वोट में से 683 वोट मतपत्रों द्वारा डाले गए। रिजेक्ट मतों को छोड़कर रेवाराम को 325 वोट मिले जबकि छत्रपाल को 319 वोट। यानि छत्रपाल महज 6 वोट से चुनाव हार गया। बस फिर क्या था, छत्रपाल को हार सहन नहीं हुई और उसने मौके पर मौजूद मतगणना अधिकारी के हाथों से रेवाराम को मिले मतपत्र छीने और उनमें से छह वोट निकालकर एक एक कर मुंह में डाले और निगलता गया।

इससे पहले की कोई कुछ समझ पाता वो भाग खड़ा हुआ और जीता हुआ प्रत्याशी उसे ताकता रह गया। अचानक घटी इस घटना से चुनाव अधिकारी सकते में आ गए। देर रात तक जिला मुख्यालय में हड़कंप मचा रहा कि अब क्या किया जाए। वोट खाकर भागे आरोपी का पता नहीं चला। अपनी जीत का दावा करने वाले रेवाराम और पीठासीन अधिकारी जरूर थाना कोतवाली में डेरा जमाए हुए हैं। अधिकारी कहते हैं अब जब छत्रपाल ने वोट छीनकर निगल ही लिया, तो भला कैसे छीनते।

वहीं पुलिस ने आरोपी छत्रपाल के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने, मतपत्र लूटने सहित मतपत्र निगलने की वजह से महत्वपूर्ण साक्ष्य नष्ट करने की धाराओं सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं अपनी जीत का दावा कर रहे रेवाराम रिजेक्ट वोट पर भी अपना दावा ठोक रहे हैं जबकि पुलिस आरोपी को तलाश करने में जुट गई है और जो आज नहीं तो कल वो मिल ही जाएगा।

लेकिन लाख टके का सवाल अभी एक और है, जिसका जवाब चुनाव प्रबंधन अभी खोजने में लगा है कि रेवाराम की जीत आखिर कैसे घोषित की जाएगी। वहीं गांव की जनता भी जानना चाहती है कि उसके गांव का अगला सरपंच कौन होगा।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नरसिंहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2015, 10:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर