लाइव टीवी

आस्था या अंधविश्वास, गाल में छेद दिया त्रिशूल

Ashish Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 5, 2015, 7:36 AM IST
आस्था या अंधविश्वास, गाल में छेद दिया त्रिशूल
नवरात्र के समापन साथ प्रदेश में जवारे विसर्जन की धूम है. गांव और कस्बों में धूम धाम शोभायात्रा निकाली जा रहीं हैं. इन शोभयात्राओं में आस्था के नाम पर बच्चों से लेकर बडों तक को त्रिशूल रूपी बाने पहनाये जाते हैं. किसी को ये अंधविश्वास और क्रूरता नजर आती है तो किसी को इसमें आस्था.

नवरात्र के समापन साथ प्रदेश में जवारे विसर्जन की धूम है. गांव और कस्बों में धूम धाम शोभायात्रा निकाली जा रहीं हैं. इन शोभयात्राओं में आस्था के नाम पर बच्चों से लेकर बडों तक को त्रिशूल रूपी बाने पहनाये जाते हैं. किसी को ये अंधविश्वास और क्रूरता नजर आती है तो किसी को इसमें आस्था.

  • Share this:
नवरात्र के समापन साथ प्रदेश में जवारे विसर्जन की धूम है. गांव और कस्बों में धूम धाम शोभायात्रा निकाली जा रहीं हैं. इन शोभयात्राओं में आस्था के नाम पर बच्चों से लेकर बडों तक को त्रिशूल रूपी बाने पहनाये जाते हैं. किसी को ये अंधविश्वास और क्रूरता नजर आती है तो किसी को इसमें आस्था.

नवरात्र के समापन के साथ नरसिंहपुर जिले के करेली और नरसिंहपुर शहर में निकाली गईं शोभयात्रा के ये नजारे बहुत आम हैं. बच्चों से लेकर बडे बुजुर्ग तक त्रिशूल रूपी वाने को अपने गाल में छेदे हुये नजर आ रहे हैं. गाल के आरपार होने के बाद भी कहीं खून न होना लोगों में आस्था को जन्म देता है तो वहीं कुछ देखने वालों को ये नजारे क्रूरता और अंधविश्वास से भी भर देते हैं.

पंडितों के मुताबिक ये आस्था का सवाल है जहां देवी की शक्ति के आगे सब कुछ बौना हो जाता है. वे बताते हैं कि उन्होंने ऐसा कभी नहीं देखा कि इससे किसी भी भक्त को कुछ नुकसान हुआ हो पर जब शास्त्र में ऐसा करने के बारे में पूछा गया तो वे साफ कहते नजर आये कि उन्होंने ऐसा करने का कहीं नहीं पढ़ा.

हालांकि, डॉक्टर मानते है कि स्वास्थ्य के लिहाज से ऐसा करना ठीक नहीं है, लेकिन लोगों की आस्था के आगे वह भी खुद को मजबूर पाते है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नरसिंहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2015, 6:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर