लाइव टीवी

'पीके' का विरोध: शंकराचार्य ने कहा, सिर्फ हिंदू धर्म में ही क्‍यों खोट नजर आता है
Narsinghpur-Madhya-Pradesh News in Hindi

News18
Updated: January 29, 2015, 12:29 PM IST
'पीके' का विरोध: शंकराचार्य ने कहा, सिर्फ हिंदू धर्म में ही क्‍यों खोट नजर आता है
फिल्‍म ‘पीके’ का विरोध तेज होता जा रहा है। ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हाल ही में रिलीज फिल्म पीके में हिंदू देवी देवताओं पर किए गए कटाक्ष पर आपत्ति व्यक्त की है। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आमिर खान अभिनीत फिल्म पीके की तारीफ की है और इसे एक शानदार और साहसपूर्ण फिल्म बताया है।

फिल्‍म ‘पीके’ का विरोध तेज होता जा रहा है। ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हाल ही में रिलीज फिल्म पीके में हिंदू देवी देवताओं पर किए गए कटाक्ष पर आपत्ति व्यक्त की है। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आमिर खान अभिनीत फिल्म 'पीके' की तारीफ की है और इसे एक शानदार और साहसपूर्ण फिल्म बताया है।

  • News18
  • Last Updated: January 29, 2015, 12:29 PM IST
  • Share this:
फिल्‍म ‘पीके’ का विरोध तेज होता जा रहा है। ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हाल ही में रिलीज फिल्म पीके में हिंदू देवी देवताओं पर किए गए कटाक्ष पर आपत्ति व्यक्त की है। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आमिर खान अभिनीत फिल्म 'पीके' की तारीफ की है और इसे एक शानदार और साहसपूर्ण फिल्म बताया है।

परमहंसी गंगा आश्रम में बुलाई गई वार्ता में कहा कि पीके में देवी देवताओं पर आपत्तिजनक फिल्मांकन किया गया है। उन्होंने पूछा कि आखिरकार फिल्म बनाने वालों को सिर्फ हिंदू धर्म में ही खोट क्यों नजर आता है? शंकराचार्य के मुताबिक, फिल्म निर्माता अन्य धर्मों के खिलाफ फिल्म बनाएंगे तो उन्हें 'ठीक' कर दिया जाएगा।   शंकराचार्य ने कहा है कि हिंदू देवी देवताओं का अपमान किसी भी परिस्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि सेंसर बोर्ड आखिर ऐसी फिल्मों को सर्टिफिकेट कैसे जारी कर देता है, फिल्म बनाने वाले भी हिंदू देवी देवताओं पर फिल्म बनाने से पहले धर्मगुरु या विषय के अच्छे जानकारों से जानकारी न लेकर कुछ भी क्यों दिखाते है।

शंकराचार्य ने कहा कि सबसे प्रमुख बात यह है कि आखिर ये फिल्म वाले हिंदू देवी देवताओं को मनोरंजन का पात्र ही क्यों बनाते है।

करोड़ों लोगों की आस्था को मनोरंजन का पात्र बनाना अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शंकराचार्य ने कहा कि अन्य धर्मो जैसे मुस्लिम, ईसाइ आदि पर फिल्म क्यों नहीं बनाई जाती। क्योंकि फिल्म बनाने वालो की अन्य धर्मो पर फिल्म बनाने की हिम्मत नहीं है, जो फिल्म हिंदू देवी देवताओं का अपमान करेगी उसका विरोध किया जाना चाहिए, ऐसी फिल्मों को सहन नहीं किया जाएगा।

मुस्लिम धर्मगुरु भी फिल्म पीकेसे नाखुश 
मुस्लिम धर्मगुरु भी फिल्म ‘पीके’ में दिखाए गए कुछ सीन्स को लेकर नाराज हैं। मुस्लिम धर्मगुरु खालिद रशीद फिरंगीमहली ने कहा कि इस फिल्म के कुछ सीन बेहद आपत्तिजनक हैं और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के सीन हमारे देश की गंगा-जमुनी तहजीब के लिए भी खतरनाक हैं।अयोध्या से भी विरोध के स्वर
अयोध्या में राम मंदिर के पुजारी ने भी फिल्म का विरोध करते हुए कहा है कि इस तरह की फिल्मों को हिंदू सहन नहीं करेगा। यह साफ तौर पर हमारी धार्मिक सहनशीलता और संवेदनाओं का अपमान है।

आडवाणी ने कहा पीके साहसपूर्ण फिल्‍म

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आमिर खान अभिनीत फिल्म 'पीके' की तारीफ की है और इसे एक शानदार और साहसपूर्ण फिल्म बताया है। आडवाणी ने हाल ही में राजकुमार हिरानी निर्देशित इस फिल्म को देखा। उन्हें फिल्म पसंद आई और वह चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को यह फिल्म देखनी चाहिए। आडवाणी ने एक बयान में कहा है, "राजकुमार हिरानी और विधु विनोद चोपड़ा को एक शानदार और साहसपूर्ण फिल्म के लिए हार्दिक बधाई।"

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नरसिंहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 27, 2014, 10:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर