लाइव टीवी

गुल्‍लक फोड़ छात्रा ने चुकाया स्‍कूल का बिजली बिल
Narsinghpur-Madhya-Pradesh News in Hindi

Ashish Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 1, 2015, 12:19 PM IST
गुल्‍लक फोड़ छात्रा ने चुकाया स्‍कूल का बिजली बिल
नरसिंहपुर के एक सरकारी स्कूल की बिजली शिक्षा विभाग के अफसरों की लापरवाही के चलते कट गई. पिछले तीन माह से स्कूल के बच्चे गर्मी और अंधेरे में पढने को मोहताज हैं. ऐसे में प्रशासन और जनप्रतिनिधियों ने जब हालात की सुध नहीं ली तो एक छात्रा ने अपने गुल्लक में जमा और स्कॉलरशिप के पैसों से इस स्कूल का बिजली बिल भरने का फैसला किया.

नरसिंहपुर के एक सरकारी स्कूल की बिजली शिक्षा विभाग के अफसरों की लापरवाही के चलते कट गई. पिछले तीन माह से स्कूल के बच्चे गर्मी और अंधेरे में पढने को मोहताज हैं. ऐसे में प्रशासन और जनप्रतिनिधियों ने जब हालात की सुध नहीं ली तो एक छात्रा ने अपने गुल्लक में जमा और स्कॉलरशिप के पैसों से इस स्कूल का बिजली बिल भरने का फैसला किया.

  • Share this:
नरसिंहपुर के एक सरकारी स्कूल की बिजली शिक्षा विभाग के अफसरों की लापरवाही के चलते कट गई. पिछले तीन माह से स्कूल के बच्चे गर्मी और अंधेरे में पढने को मोहताज हैं. ऐसे में प्रशासन और जनप्रतिनिधियों ने जब हालात की सुध नहीं ली तो एक छात्रा ने अपने गुल्लक में जमा और स्कॉलरशिप के पैसों से इस स्कूल का बिजली बिल भरने का फैसला किया.

मामला नरसिंहपुर जिला मुख्यालय के सबसे पुराने शासकीय ब्रांच प्राथमिक शाला से जुड़ा हुआ है. यहां बिल जमा नहीं करने की वजह से तीन महीने से बिजली कटी हुई थी. सरकार के नुमाइंदों ने जब इसकी सुध नहीं ली तो अख़बार में इस स्कूल की दशा पढ़कर केंद्रीय स्कूल की एक छात्रा का दिल पसीज गया. केंद्रीय स्कूल में 9वीं की छात्रा मैमूना खान ने बच्चों की पढाई के लिए अपने गुल्लक में जमा और स्कॉलरशिप के पैसों से स्कूल का बिल भरने का फैसला किया. 8 हजार रूपये में से मैमूना ने अपने पास जमा 3 हजार रूपये बिजली विभाग को जमा कर दिए, जिसके बाद अब विभाग बिजली का कनेक्शन स्कूल में जोडने जा रहा है.

मैमूना केंद्रीय विद्यालय की सडक बनाने को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखने के बाद सुर्खियों में आई थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने संज्ञान लेकर सड़क बनवाई थी. मैमूना को यही अफसोस है कि बच्चों के मामा कहे जाने वाले मुख्यमंत्री प्रदेश में शिक्षा के लिए करोड़ों रूपये खर्च कर रहे हैं पर एक स्कूल के छात्र पिछले तीन महीने से बगैर बिजली के पढ़ने को मजबूर है.

मैमूना के इस कदम से स्कूल में बिजली आ रही है जिससे बच्चों के साथ शिक्षक भी उसका शुक्रिया अदा कर रहे हैं. प्रभारी शिक्षिका बताती हैं कि शिक्षा अधिकारी के आदेश पर आधार कार्ड बनाने वाले दल को स्कूल में जगह उपलब्ध कराई गई थी. इस वजह से स्कूल का बिजली का काफी बिल आया गया. दल ने यह राशि नहीं चुकाई जबकि दल के पास इतनी बड़ी राशि चुकाने के लिए कोई मद नहीं था. इस वजह से स्कूल को इस दौर से गुजरना पड़ रहा था.

बिजली विभाग मैमूना के इस कदम की तारीफ कर रहा है साथ ही जल्द स्कूल में बिजली कनेक्शन जोडने की बात कह रहा है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नरसिंहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2015, 10:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर