हाथों में फांसी का फंदा लिए कलेक्ट्रेट पहुंचा किसान

किसान ने पिछले साल 28 दिसम्बर को एक लाख पचपन हजार का धान समर्थन मूल्य पर सहकारी समिति को बेचा था. 15 दिनों में भुगतान के शासन के निर्देश के बावजूद अब तक किसान को पैसा नहीं मिल सका है.

Ashish Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 12:14 PM IST
हाथों में फांसी का फंदा लिए कलेक्ट्रेट पहुंचा किसान
हाथों में फांसी का फंदा लेकर नरसिंहपुर कलेक्ट्रेट पहुंचा किसान.
Ashish Jain
Ashish Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 12:14 PM IST
मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में सिस्टम से निराश होकर एक किसान अपनी उपज के भुगतान के लिए  फांसी का फंदा लेकर कलेक्टर कार्यालय में पहुंच गया. आंखों में पीड़ा और हाथों में फांसी का फंदा लिए इस किसान का कहना था कि या तो उसे न्याय दिया जाए या फिर उसे फांसी देकर जीवन से मुक्ति दे दी जाए.

इस किसान का नाम अविनेश चौहान है. अविनेश ने पिछले साल 28 दिसम्बर को एक लाख पचपन हजार का धान समर्थन मूल्य पर सहकारी समिति को बेचा था.  15 दिनों में भुगतान के शासन के निर्देश के बावजूद अब तक किसान को पैसा नहीं मिल सका है.

किसान का कहना है कि उसे बिजली विभाग को बिल भुगतान करना है और 50 हजार का कर्ज भी चुकाना है. अपने भुगतान के लिये उसे बार-बार एक अधिकारी से दूसरे अधिकारी तक चक्कर काटने पर मजबूर होना पड़ रहा है, लेकिन परेशानी है कि कम होने का नाम नहीं लेती.

किसान के मुताबिक वह जनसुनवाई से सीएम हेल्पलाइन तक में तक ये शिकायत कर चुका है, लेकिन कहीं उसकी समस्या हल नहीं हुई. ऐसे में अब सरकारी व्यवस्था के सितम से तंग आकर उसे कलक्ट्रेट में फांसी का फंदा लेकर आने पर मजबूर होना पड़ा हैं.

पीड़ित किसान ने कलेक्टर के सामने ही जैसे ही फांसी लगाने की बात कही पूरे कलेक्ट्रेट में हड़कम्प सा मच गया. कलेक्टर ने तुरन्त संबधित अधिकारियों को पीड़ित किसान का भुगतान करने के निर्देश दिए. हालांकि उसे भुगतान कब तक प्राप्त हो सकेगा ये कहना मुश्किल है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर