Assembly Banner 2021

COVID 19: कोरोना के खिलाफ बच्चों ने किया ऐसा कारनामा, हैरान रह जाएंगे आप

कोरोना के खिलाफ जंग में बच्चों ने तोड़ दी गुल्लक

कोरोना के खिलाफ जंग में बच्चों ने तोड़ दी गुल्लक

नीमच के 2 मासूम बच्चों ने कोरोना के खिलाफ जंग में अपनी गुल्लक (piggy bank) तोड़ दी. बच्चों ने अपने सारे पैसे मज़दूरों को खाना खिलाने के लिए दे दिये.

  • Share this:
नीमच. कोरोना अब क्यों नहीं हारेगा जब उससे मुकाबला करने के लिए मासूम बच्चों ने हौसला दिखाया है. शनिवार को 2 मासूम बच्चे अपने गुल्लक में महीनों से जमा की हुई राशि लेकर नीमच (Neemuch) जिले के कंजार्डा चौकी पहुंचे. उन्होंने चौकी प्रभारी से मिलकर ये राशि बेसहारा मज़दूरों के खाने के लिए दान दी. यह दृश्य भावुक कर देने वाला था क्योंकि जिस देश में 10 और 12 साल के बच्चों में मदद का ऐसा जज़्बा हो, वो कोरोना तो क्या किसी को भी हरा सकता है.

मज़दूरों के खाने के लिए तोड़ दी गुल्लक
नीमच जिले की कंजार्डा पुलिस चौकी पर आज 10 वर्षीय देवराज सिंह परिहार (10 साल) और केशव सिंह परिहार (12 साल) पहुंचे. ये अपने साथ अपनी गुल्लक में महीनों से जमा की गई राशि 5060 रूपए लेकर पहुंचे थे. ये वो राशि थी जो बच्चों को खर्च के लिए परिजन देते हैं. इन बच्चों ने चौकी प्रभारी अनिल सिंह ठाकुर से मिलकर कहा कि ये रूपए उन मज़दूरों को खाने के लिए है जो अपने घर से दूर यहां फंसे हुए हैं, आप इन रुपयों से उन्हें खाना खिला देना.

सामान खरीदने के लिए जमा किये थे पैसे
दोनों भाई नीमच जिले के मनासा तहसील की कंजार्डा पुलिस चौकी के गाँव खेड़ली के रहने वाले है. केशव सिंह परिहार से जब हमने बात की तो उन्होंने कहा की इस गुल्लक में हम दोनों भाइयों ने महीनों से रूपए जमा किये थे. सोचा था अपने लिए कुछ खरीदेंगे, लेकिन जब कोरोना महामारी का सुना तो मन में ख़याल आया ये रुपए हम गरीब लोगों के खाने के लिए दे देते हैं और इसे लेकर हम चौकी पर आ गए.



भावुक हो गए थाना प्रभारी
इन मासूम बच्चो का हौसला देखकर थाना प्रभारी अनिल ठाकुर भी भावुक हो गए और उन्होंने ये राशि स्वीकार कर ली. चौकी प्रभारी ने जब बच्चों से पूछा कि तुम थाने क्यों आये, तो उन्होंने कहा चूंकि पुलिस के सम्पर्क में सभी लोग रहते हैं इसलिए हम थाने चले आये.

गुल्लक में परिजनों के दिये पैसे थे
कंजार्डा चौकी प्रभारी अनिल सिंह ठाकुर ने बताया कि बच्चों ने उन्हें बताया कि ये रूपये उनके माता, पिता, नाना, मामा और बुआ ने उन्हें दिये थे. उन्होंने कहा कि वो इन बच्चों के जज्बे से अभिभूत हैं. कोरोना के खिलाफ जंग में इन दो मासूम बच्चों ने मदद का हाथ बढ़ाकर पूरे देश को लड़ने का जज़्बा दिया है.

ये भी पढ़ें -
Corona Lockdown: CM के नाम से वायरल की थी फेक पोस्ट, आरोपियों की धरपकड़ में जुटी पुलिस
COVID 19: फील्ड में तैनात जवानों की सुरक्षा के लिए DGP ने जारी किये दिशा निर्देश, दी डॉक्टरी सलाह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज