Home /News /madhya-pradesh /

आयुष्‍मान भारत : 15 दिन में 85 हजार में से सिर्फ 300 का पंजीयन

आयुष्‍मान भारत : 15 दिन में 85 हजार में से सिर्फ 300 का पंजीयन

आयुष्‍मान भारत में पंजीकरण के लिए लगी कतारें.

आयुष्‍मान भारत में पंजीकरण के लिए लगी कतारें.

गरीब परिवारों के सदस्‍यों के लिए केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई 'आयुष्‍मान भारत' योजना को लागू हुए 15 दिन बीत चुके हैं, लेकिन नीमच जिले में अब तक मात्र 300 हितग्राहियों के ही पंजीयन हुए हैं.

    गरीब परिवारों के सदस्‍यों के लिए केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई 'आयुष्‍मान भारत' योजना को लागू हुए 15 दिन बीत चुके हैं. इस योजना के तहत हितग्राहियों का पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा होना है. मध्‍यप्रदेश के नीमच जिले में अब तक मात्र 300 हितग्राहियों के ही पंजीयन हुए हैं. इसका कारण सॉफ्टवेयर में दिक्‍कत होना बताया जा रहा है. इसके चलते लोगों के आधार कार्ड का वेरिफिकेशन नहीं हो पा रहा है और हितग्राही परेशानियां झेलते हुए पंजीयन सेंटर के चक्कर काटने को मजबूर हैं.

    सरकारें योजनाएं तो लागू कर देती हैं, लेकिन उन योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर साधनों-संसाधनों को पुख्ता नहीं करती. नतीजे में हितग्राही परेशान होते हैं. नीमच में ऐसा ही कुछ 'आयुष्‍मान भारत' स्वास्थ बीमा योजना के पंजीयन को लेकर हो रहा है. इसमें सॉफ्टवेयर के ही अपडेट नहीं होने के चलते हितग्राहियों का पंजीयन नहीं हो पा रहा है.

    15 दिन पहले इस योजना के तहत पंजीयन शुरू किए हो गए थे, लेकिन जिले के 85 हजार हितग्राहियो में से अब तक मात्र 300 हितग्राहियों के ही पंजीयन हो पाए हैं. आधार कार्ड का वेरिफिकेशन न होने के चलते हितग्राहियों के पंजीयन नहीं हो पा रहे हैं. ऐसे में लोग सेंटर के चक्कर काट रहे हैं. दिक्कत ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को ज्यादा आ रही है, क्योंकि वे दूरदराज इलाके से अपना कामकाज छोड़कर आते हैं और पंजीयन न होने के चलते वे मायूस होकर लौट जाते हैं.

    यह भी पढ़ें- नीमच के जिला अस्पताल में डॉक्टरों की कमी, भटकने को मजबूर हैं मरीज

    यह भी पढ़ें- ट्रामा सेंटर से भी रेफर किए जा रहे मरीज, आखिर कहां जाएं ?

    Tags: Neemuch news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर